Loading... Please wait...
  • हां, भारत का कोई प्रदेश बाढ़ से ऐसे नहीं डुबा है जैसे पिछले पांच दिनों से केरल डुबा हुआ है। 14 जिलों में से तिरुवंतपुरम, कोल्लम और कासरगोड को कुछ छोड़ कर सभी जिलो ने पिछले कुछ दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश झेली।

  • पिछले तीन दिनों में तीन ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिन पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के नेताओं को गंभीरता से विचार करना चाहिए। ये तीनों घटनाएं ऐसी हैं, जो अटलजी के स्वभाव के विपरीत हैं। यदि अटलजी आज हमारे बीच होते और स्वस्थ होते तो वे चुप नहीं रहते।

  • भारत के सात राज्यों में बाढ़, अति वृष्टि और भूस्खलन का कहर टूटा है। लगभग 800 लोगों की मौत हो चुकी है। इस हाल ने फिर वही सवाल उठाया है।

  • हां, भारत का कोई प्रदेश बाढ़ से ऐसे नहीं डुबा है जैसे पिछले पांच दिनों से केरल डुबा हुआ है। 14 जिलों में से तिरुवंतपुरम, कोल्लम और कासरगोड को कुछ छोड़ कर सभी जिलो ने पिछले कुछ दिनों से लगातार मूसलाधार बारिश झेली।

  • पिछले तीन दिनों में तीन ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिन पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के नेताओं को गंभीरता से विचार करना चाहिए। ये तीनों घटनाएं ऐसी हैं, जो अटलजी के स्वभाव के विपरीत हैं। यदि अटलजी आज हमारे बीच होते और स्वस्थ होते तो वे चुप नहीं रहते।

  • भारत के सात राज्यों में बाढ़, अति वृष्टि और भूस्खलन का कहर टूटा है। लगभग 800 लोगों की मौत हो चुकी है। इस हाल ने फिर वही सवाल उठाया है।

गपशप कॉलम

ई- पेपर

धर्म-कर्म

जीवन मंत्र

© 2016 nayaindia digital pvt.ltd.
Maintained by Netleon Technologies Pvt Ltd