डा. वेदप्रताप वैदिक

आरक्षण: अंधे से काणा भला

केंद्र सरकार की इस घोषणा का कोई भी विरोध नहीं कर सकता कि देश के सवर्णों में जो भी आर्थिक दृष्टि से पिछड़े हुए हैं, उन्हें भी अब शिक्षा और सरकारी नौकरियों और पढ़ें....

क्या भाजपा लौट पाएगी?

भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक पूर्व केंद्रीय मंत्री संघप्रिय गौतम के बयान ने तहलका-सा मचा दिया है। वे अटलजी और आडवाणीजी के साथी रहे हैं और उनकी और पढ़ें....

नेता अपनी कब्र खुद क्यों खोदें

इधर खबरें गर्म हैं कि अलग-अलग प्रांतों में विरोधी दलों के बीच गठबंधन बन रहे हैं, जैसे मायावती और अखिलेश का उप्र में, शरद पवार और कांग्रेस का महाराष्ट्र और पढ़ें....

रफाल-सौदाः कन्नी मत काटिए

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने पदनाम को सार्थक कर दिया। उन्होंने रफाल-सौदे पर प्रधानमंत्री की इतनी जबर्दस्त रक्षा की कि उसकी तुलना में प्र.म. और पढ़ें....

हमारे दब्बू नेताओं का ढोंगीपन

केरल के सबरीमाला मंदिर ने हमारे राजनीतिक दलों और नेताओं की पोल खोल कर रख दी है। देश के दो बड़े दल- भाजपा और कांग्रेस-- कितने कमजोर हैं और इनके नेता कितने और पढ़ें....

अंग्रेजी: खट्टर ने खूंटी पर टांगी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने अपने प्रदेश में एक ऐसा काम कर दिखाया है, जिसका अनुकरण देश के सभी हिंदी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को करना और पढ़ें....

सवाल तगड़े, जवाब ढीले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक समाचार एजेंसी को लंबा इंटरव्यू दिया, यह अपने आप में खबर है। जिस प्रधानमंत्री ने साढ़े चार साल में एक भी पत्रकार परिषद और पढ़ें....

भारत-बांग्ला नई ऊंचाइयां

बांग्लादेश में शेख हसीना वाजिद की अपूर्व विजय भारत-बांग्ला संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी। यदि हसीना हार जातीं और खालिदा ज़िया जीत जातीं तो वह और पढ़ें....

बांग्लादेशः हसीना को दिल दिया

बांग्लादेश में एक बेगम की पार्टी को 300 में से 287 सीटें मिल गईं और दूसरी बेगम की पार्टी को मुश्किल से छह सीटें मिलीं। पहली बेगम शेख हसीना वाजिद हैं और दूसरी और पढ़ें....

ऐसे थे, प्रकाशवीर शास्त्री

आज पंडित प्रकाशवीरजी शास्त्री का 95 वां जन्मदिवस है। दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में वह बहुत ही उत्तम ढंग से मनाया गया। 4 घंटे चले इस कार्यक्रम में और पढ़ें....

456789101112
(Displaying 71-80 of 817)