एफएटीएफ ने पाकिस्तान को दिया झटका

पेरिस। आतंकवाद के मामलों की जांच और निगरानी से जुड़ी अंतरराष्ट्रीय संस्था वित्तीय कार्रवाई त्वरित बल, एफएटीएफ ने पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है। एफएटीएफ ने कहा है कि आंतकवाद की आर्थिक मदद रोकने के मामले में पाकिस्तान की कार्रवाई की गति बहुत सीमित है और इसके कारण उसे लगातार ग्रे लिस्ट में रखा जाएगा। पुलवामा हमले के बाद भारत की ओर से पाकिस्तान को अलग थलग करने की कार्रवाई के बीच एफएटीएफ के इस बयान को भारत की एक और जीत के रूप में देखा जा रहा है।

भारतीय एजेंसियों ने एफएटीएफ से आग्रह किया था कि पाकिस्तान को किसी तरह की राहत न दी जाए। एफएटीएफ की ओर से जारी बयान में कहा गया कि जनवरी 2019 तक की अवधि में कार्रवाई में सीमित प्रगति के कारण पाकिस्तान से आग्रह है कि वह आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई योजना को जल्दी पूरा करे। एसटीएएफ ने इसके लिए मई 2019 की समय सीमा तय की है।

एफटीएएफ ने बयान में समय सीमा का पालन करने और दोबारा चूक करने की गलती न करने की हिदायत देते हुए कहा कि इसी साल जून और अक्टूबर में फिर से इसकी समीक्षा की जाएगी। सूत्रों का कहना है कि भारत पाकिस्तान को ईरान और उत्तर कोरिया की तरह एफएटीएफ की ब्लैक लिस्ट में डलवाने के प्रयास कर रहा है। ब्लैक लिस्टेड होने पर कंगाली की मार झेल रहे पाकिस्तान को और अधिक आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

176 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।