वीवीपैट से क्यों न हो वोट गिनती?

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से जवाब तलब किया है। विपक्षी पार्टियों ने इस चुनाव में वीवीपैट से निकलने वाली कम से कम 50 फीसदी पर्चियों की गिनती करना और उनका मिलान ईवीएम की गिनती से कराने की मांग की है। 21 विपक्षी पार्टियों की ओर से दायर इस याचिका में कहा गया है कि इनका मिलान करने के बाद ही नतीजों की घोषणा होनी चाहिए। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया है और 25 मार्च को इस पर सुनवाई तय की है।   
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ ने विपक्षी नेताओं की याचिका 25 मार्च के लिए सूचीबद्ध करते हुए शुक्रवार को चुनाव आयोग से कहा कि वह अदालत की मदद के लिए अपने किसी अधिकारी को भेजे। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दूसरे विपक्षी नेताओं ने लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा से पहले हर चुनाव क्षेत्र में वीवीपैटी की कम से कम 50 फीसदी पर्चियों का सत्यापन कराने के अनुरोध के साथ सर्वोच्च अदालत में याचिका दायर की है।
याचिका दायर करने वालों में कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, आम आदमी पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रीय लोक दल, लोकतांत्रिक जनता दल और डीएमके सहित 21 विपक्षी पार्टियां शामिल हैं। इन पार्टियों ने चुनाव आयोग के साथ फरवरी में हुई बैठक में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों, ईवीएम की विश्वसनीयता पर संदेह जताया था।
हालांकि, आयोग ने मशीनों के साथ किसी भी किस्म की छेड़छाड़ के आरोपों से इनकार किया था। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित करते हुए कहा था कि लोकसभा के हर चुनाव क्षेत्र के लिए एक मतदान केंद्र के आधार पर ईवीएम और वीवीपैटी का अनिवार्य निरीक्षण किया जाएगा।

61 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।