पाक की मदद वाले को लगाया गले

नई दिल्ली। प्रोटोकॉल तोड़ कर सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान की अगवानी के लिए हवाईअड्डा पहुंचने और सऊदी शाहजादे के गले लगने पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशान बनाया। मोदी पर हमला करते हुए कांग्रेस ने कहा कि वे पाकिस्तान की मदद करने वाले का निजी तौर पर स्वागत कर रहे हैं और उसको गले लगा रहे हैं। कांग्रेस ने यह भी कहा कि प्रोटोकॉल तोड़ने में ऐसा लग रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुकाबला कर रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी ने आतंकी मसूद अजहर और जैश ए मोहम्मद पर प्रतिबंध के मामले में सऊदी अरब का समर्थन नहीं मिलने को प्रधानमंत्री मोदी की कूटनीतिक विफलता भी करार दिया और कहा कि इस पर प्रधानमंत्री को देश की जनता को जवाब देना चाहिए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने ट्विट कर कहा- ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री मोदी सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान की अगवानी करने और प्रोटोकॉल तोड़ने में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं जबकि इसकी कोई जरूरत और औचित्य नहीं है। सबसे ज्यादा खराब बात यह है कि साझा बयान में जैश ए मोहम्मद और मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने के मामले में कुछ नहीं कहा गया।

आनंद शर्मा ने कहा- सच्चाई यह है कि पुलवामा में हुए जघन्य आतंकी हमले के बाद सऊदी अरब के युवराज ने पाकिस्तान का दौरा किया और मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने व जैश ए मोहम्मद को आतंकी संगठन घोषित करने का समर्थन करने से इनकार किया। शर्मा ने आरोप लगाया कि यह स्पष्ट रूप से कूटनीतिक विफलता है, जिसके लिए प्रधानमंत्री को देश को जवाब देना चाहिए।

कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने मोहम्मद बिन सलमान और मोदी के गले मिलने वाली तस्वीरें और पाक-सऊदी साझा बयान के लिखित ब्योरे को शेयर करते हुए ट्विट किया- राष्ट्रीय हित बनाम मोदी जी की गले लगने वाली कूटनीति। प्रोटोकॉल तोड़ कर उस व्यक्ति का भव्य स्वागत किया, जिसने पाकिस्तान को 20 अरब डॉलर देने का वादा किया और पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी प्रयासों की तारीफ की।

उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया- क्या पुलवामा के शहीदों को याद करने का आपका यही तरीका है? सुरजेवाला ने कहा- मोदी जी, क्या आप सऊदी अरब से कहेंगे कि वह पाकिस्तान के साथ जारी उस साझा बयान से पीछे हटे, जिसमें मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने की भारत की मांग को एक तरह से खारिज किया गया है।

126 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।