कांग्रेस ने की वर्मा की बहाली की मांग

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने सीबीआई के निदेशक पद से हटाए गए आलोक वर्मा को फिर से पद पर बहाल करने की मांग की है। कांग्रेस ने कहा है कि उनको पहले पद पर बहाल किया जाए और उसके बाद ही जांच हो। कांग्रेस ने आलोक वर्मा के खिलाफ शिकायतों की सीवीसी जांच की निगरानी करने वाले सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जज जस्टिस एके पटनायक के एक बयान का जिक्र किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आलोक वर्मा को उनके पद पर बहाल करना चाहिए।

गौरतलब है कि शनिवार को आई खबरों में कहा गया है कि जस्टिस पटनायक ने कथित तौर पर कहा है कि आलोक वर्मा के खिलाफ लगाए गए आरोपों को साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं हैं। इसका जिक्र करते हुए कांग्रेस ने कहा कि वर्मा को फिर से पद पर नियुक्त किया जाए और फिर उच्च स्तरीय समिति उनके खिलाफ आरोपों की जांच करे। कांग्रेस ने यह भी सवाल किया कि आखिर क्या कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी और सरकार भयभीत नजर आ रही है?

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा- कुछ तो ऐसा है कि, जिससे प्रधानमंत्री और सरकार डरे हुए हैं। इसका रहस्योद्घाटन होना चाहिए। उन्होंने कहा- जस्टिस पटनायक का बयान अब सबके सामने है। इससे साबित होता है कि सीवीसी की रिपोर्ट झूठ है। इस झूठी रिपोर्ट के आधार पर आलोक वर्मा को हटा दिया गया। सिंघवी ने कहा- हमारी मांग है कि उच्च स्तरीय समिति की बैठक फिर बुलाई जाए। आलोक वर्मा को फिर नियुक्त किया जाए। वर्मा के 77 दिन फिर से वापस लौटाए जाएं। वर्मा पर लगे आरोपों की जांच उच्च स्तरीय समिति करे।

सिंघवी ने कहा- यह बहुत गंभीर और महत्वपूर्ण मामला है। यह सरकार डरी हुई है। इस सरकार के लोग बातों को घुमाने में माहिर हैं और वे इस मामले में भी लगे हुए हैं। खबरों के मुताबिक जस्टिस पटनायक ने कहा कि आलोक वर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई सबूत नहीं हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने गुरूवार को वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया था। इसके अगले दिन शुक्रवार को वर्मा ने सरकारी सेवा से इस्तीफा दे दिया।

133 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।