फड़नवीस ने पुल हादसे की जांच के आदेश दिए

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से बाहर फुटओवर ब्रिज टूट कर गिर जाने के मामले की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने बृहन्नमुंबई महानगरपालिका, बीएमसी को इसकी जांच के आदेश दिए हैं और उसके प्रमुख अजय मेहता से दोषियों के नाम बताने को कहा है। उन्होंने मेहता से कहा है कि वे बताएं कि इसकी प्राथमिक जिम्मेदारी किसकी बनती है।

गौरतलब है कि छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस स्टेशन को जोड़ने वाले डीएन रोड पर गुरुवार की शाम पुल का एक हिस्सा गिर गया था, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई थी और 31 लोग घायल हो गए थे। फड़णवीस ने सेंट जॉर्ज अस्पताल में घायलों से मिलने के बाद पत्रकारों से कहा कि उन्होंने बीएमसी को जांच के लिए कहा है। फड़नवीस ने कहा- यह चौंकाने वाली बात है कि संरचनात्मक ऑडिट के बाद भी ऐसी दुर्घटना हो सकती है। इसकी प्राथमिक जिम्मेदारी आज शाम तक तय कर दी जाएगी। मैंने नागरिक प्रमुख से उन जिम्मेदार लोगों के नाम पता लगाने के लिए कहा है।

इस बीच मध्य रेलवे के अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि बीएमसी प्रमुख अजय मेहता ने सीएसएमटी स्टेशन से जुड़े पैदल पार पुल के ढहने की जांच शुरू की है, जिसका वे स्वागत करते हैं। इससे यह साफ हो गया कि यह पुल रेलवे के तहत नहीं आता है, इसलिए उन पर लापरवाही का आरोप नहीं लगना चाहिए। असल में इसे लेकर रेलवे और बीएमसी के बीच जुबानी जंग चल रही थी। ध्यान रहे रेलवे भाजपा की केंद्र सरकार के अधीन है तो बीएमसी भाजपा की सहयोगी शिवसेना के अधीन है।

इस घटना को लेकर बंबई हाई कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि वह महानगर में फुट ओवरब्रिजों की खराब स्थिति के मुद्दे पर एक याचिका पर 22 मार्च को सुनवाई करेगा। याचिकाकर्ताओं में से एक प्रदीप भालेकर के वकील नितिन सत्पुते ने शुक्रवार को हाई कोर्ट में दायर याचिका पर तत्काल सुनवाई करने की मांग की। जस्टिस रंजीत मोरे और जस्टिस भारती डांगरे की खंडपीठ 22 मार्च को मामले पर सुनवाई के लिए राजी हो गई। भालेकर ने एल्फिनस्टोन रोड उपनगर रेलवे स्टेशन में भीड़भाड़ वाले फुट ओवरब्रिज पर भगदड़ के बाद सितंबर 2017 में याचिका दायर की थी। इस हादसे में 31 लोगों की मौत हो गई थी।

32 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।