लोकपाल की बैठक में नहीं जाएंगे खड़गे

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने लोकपाल चयन समिति की बैठक में शामिल होने से फिर इनकार कर दिया है। उन्होंने सरकार की पेशकश लगातार सातवीं बार खारिज करते हुए कहा है कि विशेष आमंत्रित सदस्य के लोकपाल चयन समिति का हिस्सा होने या इसकी बैठक में शामिल होने का कोई प्रावधान नहीं है। लोकपाल चयन समिति की बैठक का फरवरी 2018 के बाद से लगातार सातवीं बार खड़गे बैठक ने बहिष्कार किया।

खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में कहा कि लोकपाल कानून-2013 की धारा चार में विशेष आमंत्रित सदस्य के लोकपाल चयन समिति का हिस्सा होने या इसकी बैठक में शामिल होने का कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि 2014 में सत्ता में आने के बाद से इस सरकार ने लोकपाल कानून में ऐसा संशोधन करने का कोई प्रयास नहीं किया, जिससे विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी का नेता चयन समिति के सदस्य के तौर पर बैठक में शामिल हो सके।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर मेरे शामिल नहीं होने का बहाना बना कर सरकार ने पिछले पांच साल में लोकपाल की नियुक्ति नहीं की। उन्होंने कहा कि इस मामले थोड़ी बहुत जो भी प्रगति हुई वह सुप्रीम कोर्ट के दबाव के कारण हुई। पत्र में उन्होंने लिखा - सच्चाई यह है कि सभी बैठकें तय कार्यक्रम के तहत हुईं और सर्च कमेटी की भी गठित गई। इससे साफ जाहिर होता है कि सरकार इस महत्वपूर्ण प्रक्रिया से विपक्ष को अलग रखना चाहती थी।

खड़गे ने यह भी कहा कि विपक्ष को अलग रख कर पूरी प्रक्रिया को ही बिगाड़ दिया गया है और इस एकतरफा प्रक्रिया से चयनित कोई भी व्यक्ति पद स्वीकार करने से मना कर सकता है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता खड़गे को पहले छह बार लोकपाल चयन समिति की बैठक में बुलाया जा चुका है। हर बार वे इसी आधार पर बैठक में शामिल होने का प्रस्ताव अस्वीकार कर देते हैं कि विशेष आमंत्रित सदस्य के लोकपाल चयन समिति की हिस्सा होने या इसकी बैठक में शामिल होने का कोई प्रावधान नहीं है।

66 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।