सीआरपीएफ करेगी कश्मीरियों की मदद

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पिछले हफ्ते गुरुवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद देश के कई हिस्सों में कश्मीरियों पर हमले हुए हैं। इसे देखते हुए सीआरपीएफ ने कश्मीरियों की मदद करने का फैसला किया है। एक हमले में अपने 40 से ज्यादा जवान गंवा चुकी सीआरपीएफ ने देश के अलग अलग हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों के लिए एक हेल्पलाइन जारी की है। 

सीआरपीएफ ने कश्मीर से बाहर देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरी छात्रों, कारोबारियों और दूसर कश्मीरियों की मदद के लिए सीआरपीएफ मददगार नाम से 24 घंटे की हेल्पलाइन शुरू की है। गुरुवार को पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में 40 जवान शहीद होने के बाद देश भर में हो रहे प्रदर्शनों के बाद सीआरपीएफ ने यह हेल्पलाइन जारी की है। जम्मू कश्मीर पुलिस ने भी घाटी के हर जिले में देश के विभिन्न भागों में रह रहे लोगों को सहायता मुहैया कराने के लिए हेल्पलाइन स्थापित की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी सभी राज्य सरकारों को आदेश जारी कर कहा है कि राज्य सरकारें अपने अपने राज्यों में कश्मीरी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। सीआरपीएफ की 24 घंटे की हेल्पलाइन सीआरपीएफ मददगार मुसीबत में फंसे लोगों के लिए है। सीआरपीएफ की ओर से किए गए ट्विट में कहा गया है - कश्मीर से बाहर रह रहे कश्मीरी छात्र और आम नागरिक किसी भी मुसीबत या उत्पीड़न की स्थिति में सीआरपीएफ मददगार के चौबीस घंटे की हेल्पलाइन के टॉल फ्री नंबर 14411 पर कॉल करके या 7082814411 पर एसएमएस भेज कर जल्दी मदद हासिल कर सकते हैं।

सीआरपीएफ के इस ट्विट को जम्मू कश्मीर पुलिस और कई अन्य लोगों ने रिट्विट किया है। पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि शनिवार को कुछ कश्मीरी लोग रेलगाड़ी से कश्मीर लौटे हैं। उन्होंने कहा- मैंने कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा के मुद्दे पर उत्तराखंड पुलिस के महानिदेशक से बात की है। बारामूला की पुलिस महानिरीक्षक भी संपर्क में है। जम्मू और श्रीनगर के लिए भी पीसीआर नंबर स्थापित किए गए हैं।

86 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।