तानाशाही बनाम लोकतंत्र में चुनाव: कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में दिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर पलटवार किया और उनकी बातों का जवाब दिया। कांग्रेस ने कहा कि अगला चुनाव तानाशाही बनाम लोकतंत्र का होगा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि चुनाव सल्तनत और संविधान के बीच है। उन्होंने यह भी कहा था कि विपक्ष मजबूर सरकार बनाना चाहती है, जबकि वे मजबूत सरकार बनाना चाहते हैं।

इसका जवाब देते हुए कांग्रेस ने शनिवार को दावा किया कि अगला लोकसभा चुनाव तानाशाही बनाम लोकतंत्र और भाषण बनाम शासन का होगा। कांग्रेस ने यह भी सवाल किया कि भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में भाषण के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अच्छे दिन और नोटबंदी का जिक्र क्यों नहीं किया? कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने संवाददाताओं से कहा- 2019 की लड़ाई मजबूर सरकार बनाम मजबूत सरकार का नहीं है। 2019 की लड़ाई तानाशाही बनाम लोकतंत्र है। 2019 की लड़ाई भाषण बनाम शासन है। 2019 की लड़ाई जुमला बना काम है।

तिवारी ने कहा- प्रधानमंत्री ने अपना भाषण इस बात से शुरू किया कि काश सरदार पटेल भारत के पहले प्रधानमंत्री होते। वे एक चीज भूल गए या जान बूझकर भूलना चाहते हैं कि सरदार पटेल पंडित नेहरू और आजादी की जंग लड़ने वाले दूसरे नेताओं के साथी थे। वे कांग्रेस के एक बड़े कद्दावर नेता थे। भाजपा के पूर्वजों ने तो आजादी में हिस्सा नहीं लिया और अंग्रेजों से माफी मांग कर अपनी जान छुड़ाई थी।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के साथ समस्या यह है कि वे यह मानने लगे हैं कि भारत का पूरा इतिहास 26 मई, 2014 के बाद का है। शायद इससे बड़ा भ्रम और असत्य कुछ नहीं हो सकता। तिवारी ने कहा- प्रधानमंत्री ने 55 महीने के बाद सबका साथ, सबका विकास का जिक्र किया। इतने महीनों बाद देश को यह जुमला फिर से सुनने को मिला। लेकिन उन्होंने अच्छे दिन का जिक्र नहीं किया। अगर वो अच्छे दिन का जिक्र करते तो जले पर नमक छिड़कने जैसा हो जाता है।

73 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।