चीन का भारत को ठेंगा

बीजिंग। चीन ने पाकिस्तान की सरजमीं से संचालित होने वाले आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने के रास्ते में फिर रोड़े अटकाने का चीन ने बचाव किया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में लाए गए प्रस्ताव को वीटो के जरिए रोकने के अपने फैसले का गुरुवार को बचाव किया और कहा कि इससे स्थायी समाधान तलाशने के लिए संबंधित पक्षों के बीच वार्ता में मदद मिलेगी।

यह पूछे जाने पर कि चीन ने मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने के कदम को एक बार फिर क्यों बाधित किया, चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि बीजिंग का फैसला समिति के नियमों के अनुसार है। उन्होंने कहा कि चीन को वास्तव में यह उम्मीद है कि इस समिति के प्रासंगिक कदम संबंधित देशों की मदद करेंगे ताकि वे वार्ता व विचार विमर्श करें और क्षेत्रीय शांति व स्थिरता के लिए और जटिलता पैदा नहीं हो।

कांग ने कहा- जहां तक 1267 समिति में तकनीकी रोक की बात है, तो हमने यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाया है कि समिति के पास मामले के अध्ययन के लिए उचित समय हो और संबंधित पक्षों को वार्ता और विचार विमर्श के लिए समय मिल सके। उन्होंने कहा- सभी पक्षों के लिए स्वीकार्य समाधान ही इस मसले के स्थायी समाधान का अवसर मुहैया करा सकता है। चीन इस मामले से उचित तरीके से निपटने के लिए भारत समेत सभी पक्षों से बातचीत व तालमेल के लिए तैयार है।

गौरतलब है कि चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने संबंधी प्रस्ताव पर बुधवार को तकनीकी रोक लगा दी। फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अल कायदा प्रतिबंध समिति के तहत मसूद को आतंकवादी घोषित करने का प्रस्ताव 27 फरवरी को पेश किया था। भारत और अमेरिका सहित दुनिया के कई देशों ने चीन के इस कदम पर सवाल उठाए हैं। अमेरिका ने तो यहां तक कहा है कि इससे चीन के साथ उसके साझा हितों पर असर होगा।

56 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।