गुरमीत राम रहीम हत्या का दोषी

पंचकूला। सीबीआई की विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को  हत्या का दोषी करार दिया है। अदालत ने सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराया है। जेल में बंद राम रहीम के अलावा तीन अन्य आरोपियों को भी दोषी ठहराया गया है। दोषियों को सजा का ऐलान 17 जनवरी को होगा।

सीबीआई की विशेष अदालत के जज जगदीप सिंह ने करीब 16 साल पुराने सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड में सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह और तीन अन्य को शुक्रवार को दोषी ठहराया। डेरा प्रमुख के अलावा कृष्णलाल, कुलदीप और निर्मल को भी दोषी ठहराया गया है। गुरमीत राम रहीम सिंह रोहतक की सुनारिया जेल से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत में पेश हुए। राम रहीम साध्वी यौन शोषण मामले में उम्र कैद की सजा काट रहे हैं और यह सजा भी विशेष जज जगदीप सिंह ने ही सुनाई थी।

इस मामले में तीन अन्य आरोपियों को पुलिस ने यहां व्यक्तिगत तौर पर कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया। दोषी करार दिए जाने के बाद तीनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और इन्हें अंबाला जेल ले जाया गया है। इस फैसले की वजह से शुक्रवार को पंचकूला और सिरसा में सुरक्षा व्यवस्था के चाक चौबंद इंतजाम किए गए थे। सुरक्षा एजेंसियों ने पिछले अनुभवों से सबक लेते हुए समूचे पंचकूला क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया था।

अदालत में मामले की सुनवाई के दौरान डेरा प्रमुख के ड्राइवर खट्टा सिंह की गवाही चारों को दोषी साबित करने में अहम रही। इसके अलावा यह भी साबित हुआ कि जिस रिवॉल्वर से छत्रपति की हत्या की गई थी वह किशनलाल की लाइसेंसी रिवॉल्वर थी। छत्रपति को 24 अक्टूबर 2002 को गोली मारी गई थी, जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गए थे। बाद में उन्होंने 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। छत्रपति सिरसा से ‘पूरा सच’ नाम से अखबार निकालते थे, जिसमें पहली बार राम रहीम का कारगुजारियों का ब्योरा छपना शुरू हुआ था।

130 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।