अबूझमाड़ मैराथन में कीनिया के मोजेश ने बाजी मारी

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में आज माड़ महोत्सव-बासिंग मेला के अवसर पर कीनिया देश के मोजेश ने बाजी मारी है।

इस अबूझमाड़ पीस हॉफ मैराथन दौड़ में 18 राज्यों के लगभग तीन हजार से ज्यादा धावकों ने हिस्सा लिया। इस आयोजन में चार विदेशी धावकों को पीछे छोड़ कीनिया देश के मोजेश ने बाजी मारी। उन्होंने 21 किलोमीटर की दौड़ को 01 घंटा 10 मिनट में पूरी की।

इस दौड़ में महिला वर्ग में उत्तर प्रदेश का दबदबा रहा। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की कुमारी डिंपल सिंह ने 2 घंटा 22 मिनट में फिनिस लाईन टच कर प्रथम खिताब अपने नाम किया। पुरूष वर्ग में दूसरे स्थान पर उत्तराखण्ड के हरसिंह रहे। उन्होंने अपनी मैराथन दौड़ 1 धंटा 13 मिनट में पूरी की। वहीं तृतीय स्थान पर राजस्थान के गोविंद सिंह रहे। उन्होंने अपनी दौड़ 1 घंटा 15 मिनट में पूरी की।

महिला वर्ग में दूसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल की कु. श्यामल सिंह रही। उन्होंने 2 घंटा मिनट का समय लिया। तीसरा स्थान पर रही उत्तरप्रदेश की ही कु. रीनू ने दौड़ पूरी करने में 2 घंटा 28 मिनट का वक्त लिया। मोहला-मानपुर (छत्तीसगढ़) के पुकेश्वर लाल ने सातवा स्थान प्राप्त किया।

इस मैराथन दौड़ में छत्तीसगढ़ समेत 18 राज्यों और चार विदेशी के धावकों ने हिस्सा लिया। इसी प्रकार 7 किलोमीटर की रन फॉर फन दौड़ में लगभग एक हजार लोगों ने हिस्सा लिया। यह दौड़ जिला मुख्यालय नारायणपुर के मुख्य चौक चौराहों से हाई स्कूल के खेल मैदान पर फिनिस हुई। इस प्रकार दोनों दौड़ों में 4 हजार 80 लोग शामिल हुए। इन सभी ने ऑनलाइन पंजीयन कराया था। पुरूष और महिला वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले दोनों विजेताओं को मैराथन ट्राफी, प्रशस्ति पत्र और एक-एक लाख रूपये का चेक देकर सम्मानित किया गया।

जिला और पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी भी दौड़ में शामिल हुए। अधिकारियों ने अपनी बढ़ती उम्र को मात देते हुए पुलिस अधीक्षक सुकमा जितेन्द्र शुक्ल ने 1 घंटा 45 मिनट, पुलिस महानिदेशक बस्तर विवेकानन्द सिन्हा ने 1 घंटा 58 मिनट में तो वहीं नाराणपुर कलेक्टर पी.एस. एल्मा ने 1 घंटा 59 मिनट सैकड़ों धावकों को पीछे छोड़ दौड़ पूरी की। सवेरे नारायणपुर से बासिंग तक दौड़ते हुए पैरा की मधुर आवाज सुनाई दे रही थी। नारायणपुर वासियों ने सभी धावकों को जोरदार स्वागत किया। रास्ते को बेलून और बेनों पोस्टर से सजाया गया था। नागरिकों ने धावकों का तालियां बजाकर उत्सावर्धन किया।

मुख्य अतिथि विधायक चंदन कश्यम ने जिला मुख्यालय स्थित शासकीय हॉई स्कूल मैदान में सवेरे 7.40 मिनट पर हरी झण्डी दिखाकर अबूझमाड़ पीस हॉफ मैराथन की दौड का शुभारंभ किया। कार्यक्रम कमिश्नर बस्तर संभाग धनंजय देवांगन, पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज विवेकानंद सिन्हा की गरिमामय, कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा, कलेक्टर नारायणुर पदुम सिंह एल्मा, पुलिस अधीक्षक सुकमा जितेन्द्र शुक्ल और पुलिस अधीक्षक नारायणपुर आई.के. एलिसेला की गरिमामयी उपस्थिति में संपन्न हुआ। ग्राम बासिंग में विजयी पुरूष और महिला धावकों को मुख्य अतिथि सहित सभी अतिथियों ने मैराथन कम, प्रशस्ति पत्र और नगद राशि देकर सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि चंदन कश्यप ने कहा कि हार-जीत खेल का हिस्सा है। उन्होंने धावकों से कहा कि वे यहां की शांति और उन्नति देखें और यह संदेश लेकर जाये और बतायें कि अबूझमाड़ में अशान्ति जैसे कोई हालात नहीं है यह डर-भय का नहीं बल्कि विकास का वातावरण है। यहां के पारंपरिक रीत-रिवाज और यहां की संस्कृति अपने जश्न में लेकर जाये।

बस्तर कमिश्नर धनंजय देवांगन ने कहा कि जिला और पुलिस प्रशासन के सहयोग से आयोजित यह दौड प्रशंसनीय है। ऐसे आयोजनों से अबूझमाड़ को लोग जानेगें समझेगें। यहां की सांस्कृतिक और कला अदभूत है। कलेक्टर पी.एस. एल्मा ने माड़ महोत्सव बासिंग मेला के लिए सभी को बधाई और धन्यवाद किया।

276 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।