Loading... Please wait...

कनाडा की आबादी कम, क्षेत्रफल ज्यादा

विवेक सक्सेना
ALSO READ

कनाड़ा की दो राष्ट्रभाषा है। फ्रेंच और अंग्रेंजी। क्यूबेक राज्य में फ्रेंच राज्य भाषा है। वह वहीं बोली जाती है। वह हमारे कश्मीर जैसा है। वहां के कुछ लोग अपना अलग देश चाहते हैं। उन्होंने कई बार जनमत संग्रह भी करवाया मगर 50 फीसदी से ज्यादा वोट हासिल नहीं कर पाने के कारण उनका अलग होने का मंसूबा धरा रह गया। यहां संवैधानिक राजशाही है। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय यहां की राष्ट्र प्रमुख है जबकि सरकार चुनाव के जरिए चुनी जाती है। 

महारानी की ओर से यहां के प्रधानमंत्री की सहमति से गवर्नर-जनरल नियुक्त किए जाते हैं। सरकार का प्रमुख प्रधानमंत्री होता है। मौजूदा प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudo) हैं और यहां 10 राज्य व तीन केंद्र शासित क्षेत्र है। वेंकूवर ब्रिटिश कोलंबिया राज्य का हिस्सा है। यहां का मौसम काफी ठंडा रहता है। देश के दो-तिहाई लोग अमेरिकी सीमा से 100 किलोमीटर की दूरी पर रहते हैं। यहां की आबादी 3.5  करोड है जोकि अमेरिका के कैलीफोर्निया राज्य की आबादी से कम है। 

यहां दुनिया का सबसे लंबा कनाड़ा हाईवे है। यहां के लोग दुनिया में सबसे ज्यादा शिक्षित है। यहां के 99 फीसदी लोग साक्षर है। यह देश अपनी वाइन खासतौर पर आरएस वाइन के लिए जाना जाता है जोकि जमे हुए अंगूरो से तैयार की जाती है। यहां ऊचे जीवन स्तर व अपराध दर कम होने के कारण बड़ी तादाद में बाहरी देश से लोग आ रहे हैं। दुनिया का सुंदूर आवासी क्षेत्र नानाव्रत यहीं हैं। जहां की कुल जनसंख्या 35,994 हैं व वहां का क्षेत्रफल कनाड़ा के क्षेत्रफल का पांचवा हिस्सा है। वहां से एक सांसद चुन कर आता है और ज्यादातर इस टुड्डा प्रदेश मूल निवासी रहते हैं। 

कनाड़ा  के कई इलाकों में शराब निषेघ लागू होने के कारण जमकर अवैध शराब का धंधा होता है। व उस्फेर आधारित अपराध काफी ज्यादा है। यहां की 90 फीसदी जनसंख्या सिगरेट पीती है। कनाड़ा में दुनिया का एकमात्र स्थान क्यूबेक सिटी ऐसा है जोकि चारों ओर से दीवार से घिरा हुआ है। अंग्रेंजो ने फ्रेंच से जीत के बाद इसके चारों और दीवार बनाई थी व उसे 1985 में विश्व  धरोहर घोषित किया गया।

मैं तो इसे समय का फेर ही कहूंगा कि जिस व्यक्ति ने अपना पूरा देश भी न घूमा हो वह एक दिन सात समंदर पार चला जाएगा। पहले यह शब्द फिल्मी गानों, मुहावरों या कहानियों में ही सुना था पर अब पता चला कि मैं जिस कनाड़ा शहर में आया हुआ हूं वह सात समंदर पार माना जाता है। वह दुनिया के दो ध्रुवो में से एक उत्तरी ध्रुव के किनारे पर बसा हुआ है। यही इलाका अनेक मामलों में अजीबोगरी है। दुनिया में यह रूस के बाद क्षेत्रफल के आधार पर दूसरा सबसे बड़ा देश है जोकि एक लाख किलोमीटर में फैला हुआ है। 

यहां दुनिया के आधे वन स्थित है जिनमें बड़ा हिस्सा देश के 10 फीसदी क्षेत्रफल में स्थित है। यह देश इतना बड़ा है कि 10 राज्यों व तीन क्षेत्रों पर इस देश में छह टाइम जोन है। मतलब 6 जगहों का समय अलग-अलग है जबकि इनकी जनसंख्या काफी कम महज करोड़ है। इस देश के छह महानगरों की ही जनसंख्या 10 लाख से ज्यादा है। यहां सऊदी अरब व कजाकिस्तान के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा तेल है औक यहां सबसे ज्यादा रेडियाधर्मी तत्व यूरेनियम पाया जाता है जोकि परमाणु ऊर्जा बनाने के काम आता है। 

दुनिया के आधे ध्रुवीय भालू यहीं रहते हैं और यहां बड़ी तादाद में दुनिया की सबसे बेहतर मानी जाने वाली सालमन मछली मिलती है। इसने किसी और देश के स्थान सबसे लंबा समुद्रीतटीय होने का रिकार्ड बनाया है। अमेरिका के साथ इसके समुद्री तटीय सीमा 5525 किलोमीटर है जोकि सुरक्षाबल  विहीन है। यहां प्रशांत सागर, आकर्टिक सागर व अटलांटिक सांगर भी छूते हैं। जाना-माना जहाज टाइटेनिक यहीं के पानी में डूबा था। टुंड्डा प्रदेश वाला अलास्का, ग्रीनलैंड व मुकान इसके पश्चिमी छोर है। 

दुनिया के किसी भी देश की तुलना में यहां सबसे ज्यादा झीले हैं। यह देश के छठे हिस्से में फैली हुई है। इसकी सीमाएं अमेरिका के अलास्का समेत सभी राज्यों डेनमार्क की ग्रीनलैंड व फांस से छूती है। पहले यहां फ्रांस व ब्रिटेन का कब्जा रहा। ब्रिटेन ने इसे अक्टूबर 1982 में पूरी तरह से आजाद किया था। यहां के लोगों ने पहले विश्व युद्ध में ब्रिटेन की ओर से हिस्सा लिया और वे उस युद्ध में मारे जाने वाले किसी देश के सबसे ज्यादा सैनिक थे।

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश होने के बावजूद यहां दुनिया की जनसंख्या का आधा फीसदी हिस्सा ही रहता है। कनाड़ा की जनसंख्या महज 3  करोड़ है। यहां के छह बड़े शहरों वेंकूवर, अल्बर्टा एडमरन विनीपेग व ओनेटिनो की जनसंख्या 10 लाख से ज्यादा है। ओटावा यहां की राजधानी है। यहां ब्रिटिश कोलंबिया की जनसंख्या 21.8 लाख और ओनेटिनो की 23.4 लाख है। यहां दुनिया के तमाम देशों जैसे भारत, चीन, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, जापान, ताईवान, ईरान, ईराक व कोरिया के लोग रहते हैं। यहां के लोगों की असली जनसंख्या मूल जनसंख्या का बहुत कम है। 

देश में चीनी के बाद सबसे ज्यादा एशियाई में भारतीय मूल के हैं। यहां जनसंख्या का घनत्व दुनिया में चौथे नंबर पर आता है व एक वर्ग किलोमीटर में महज तीन लोग रहते हैं। दुनिया का सुंदूर आवासीय स्थल यहां के उत्तर ध्रुवीय इलाके नुनावत में है। नुनावत में कनाड़ा का पांचवां क्षेत्रफल आता है। यहां लोगों की औसत आयु 81 साल है जबकि चंद फीसदी लोग ही अपने परिवारों के साथ रहते हैं। एक परिवार में औसतन 2.6 लोग हैं। वे हफ्ते में 21 घंटे टीवी देखते हैं और 1.28 लाख लोगों ने अपने बाथरूम तक में टीवी लगा रखे हैं। यहां बहुत तेजी से मूल निवासी बूढे हो रहे हैं। 

इतना बड़ा देश होने के बावजूद यहां की जनसंख्या महज 3.71 करोड़ है। पिछले कुछ दशकों में नौकरी की खोज में बड़ी तादाद में यहां लोग आए हैं। यहां आने वाले 20 फीसदी या हर पांच में से एक व्यक्ति प्रवासी है जोकि नौकरी के चक्कर में यहां आया है। यहां बहुत कम तादाद में बुजुर्ग लोग अपने परिवार के साथ रहते हैं।जबकि एशियाई लोग परिवार के साथ रहकर अपनी संपत्ति खरीदना पसंद करते हैं। 

बातचीत में यहां के लोग काफी सभ्य होते हैं व सॉरी कहकर माफी मांगना पसंद करते हैं। उनकी इस आदत के कारण सरकार को 2009 में देश के कानून में यह बदलाव करना पड़ा कि अदालत में किसी दूसरे पक्ष द्वारा सॉरी कहने को उसके अपराध को स्वीकारोक्ति न मान लिया जाए। यहां पंजाबी लोग कुल जनसंख्या में 4 लाख, 1.3 फीसदी है। पिछले चुनाव में दक्षिण एशियाई 23 सांसद जीते थे जिनमें से 20 पंजाबी भाषी थे। इसके बाद इस भाषा को वहां की तीसरी संसदीय भाषा बना दिया गया।

314 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech