मुकुल राय ने खेल शुरू कर दिया

तृणमूल कांग्रेस छोड़ने के बाद मुकुल रॉय शांत बैठे थे। ऐसा लग रहा था कि वे किनारे लग गए हैं। यह भी चर्चा थी चुनाव के बाद की तस्वीर को देखते हुए भाजपा नेतृत्व ने ममता बनर्जी के साथ ज्यादा पंगा नहीं बढ़ाने का फैसला किया है इसलिए मुकुल रॉय को किनारे कर दिया गया है। पर अब भाजपा ने सीधे टकराव का मोर्चा खोला है। मध्य प्रदेश के चुनाव के बाद कैलाश विजयवर्गीय फिर से बंगाल के प्रभारी के तौर पर सक्रिय हो गए हैं। नागरिकता कानून के जरिए भाजपा ने ध्रुवीकरण की राजनीति तेज कर दी है। तभी कहा जा रहा है कि मुकुल रॉय को भी सक्रिय कर दिया गया है। उन्होंने ममता बनर्जी की पार्टी में तोड़फोड़ शुरू करा दी है। 

ममता ने अपनी पार्टी के दो सांसदों को निकाल दिया है। खबर है ये इन दोनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। इनमें से एक सांसद सौमित्र खान भाजपा में शामिल हो गए हैं। दूसरे सांसद अनुव्रत मंडल के बारे में भी कहा जा रहा है कि वे भाजपा में शामिल हो सकते हैं। ध्यान रहे पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी का संगठन खड़ा करने में सबसे अहम रोल मुकुल रॉय का रहा था। ममता की पार्टी की कई बड़े नेता, सांसद और विधायक उनके संपर्क में हैं। जैसे जैसे चुनाव नजदीक आएगा तृणमूल कांग्रेस में तोड़फोड़ तेज होगी। लोकसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक कई नेता मुकुल रॉय के संपर्क में बताए जा रहे हैं। ममता की पार्टी से जिन सांसदों को टिकट नहीं मिलने का अंदेशा है वे भी पाला बदलने को तैयार हैं। बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी ने अपने हर नेता, सांसद और विधायक की निगरानी शुरू करा दी है। सब पर नजर रखी जा रही है। 

280 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।