तमिलनाडु में 2004 का दोहराव होगा!

तमिलनाडु में भारतीय जनता पार्टी अन्ना डीएमके से तालमेल करने पर विचार कर रही है। अन्ना डीएमके की राजनीति जिस तरह से पिछले दो साल से भाजपा और केंद्र सरकार से हैंडल हो रही है उसे देख कर काफी समय से अंदाजा लगाया जा रहा था कि दोनों में तालमेल होगा। अब खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कह दिया है कि पार्टी पुराने साथियों से तालमेल के लिए तैयार है। ध्यान रहे छह साल सत्ता में रहने के बाद 2004 के चुनाव से पहले भी अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली भाजपा ने अन्ना डीएमके से तालमेल किया था। भाजपा के लिए यह फैसला बहुत गलत साबित हुआ था। 

जब 1999 में जयललिता ने भाजपा की सरकार गिराई थी उसके बाद भाजपा का तालमेल डीएमके से था। 2004 में डीएमके को छोड़ कर भाजपा ने फिर जयललिता की अन्ना डीएमके से तालमेल किया। और हार कर सत्ता से बाहर हुई। दो साल के बाद 2006 के चुनाव में जयललिता  भी चुनाव हार कर सत्ता से बाहर हो गईं और डीएमके की सरकार बनी। बिल्कुल वैसी ही स्थिति अभी तमिलनाडु में है। वहां अन्ना डीएमके की सरकार है और केंद्र की भाजपा सरकार उसके साथ तालमेल करने जा रही है। और दो साल के बाद वहां विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। सो, कई जानकारों का आकलन है कि 2004 और 2006 का इतिहास 2019 और 2021 में दोहराया जा सकता है!  

220 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।