देवगौड़ा और मुलायम परिवार सबसे आगे?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया है। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहती हैं कि उनके परिवार से तीन लोग चुनाव लड़ें। उनके परिवार से सोनिया और राहुल गांधी चुनाव लड़ रहे हैं। इसी तरह शरद पवार ने भी लोकसभा चुनाव लड़ने से मना किया है और यहीं तर्क दिया कि वे नहीं चाहते कि तीन लोग परिवार से चुनाव लड़ें। उनके परिवार से उनकी बेटी सुप्रिया सुले और भतीजे अजित पवार के बेटे पार्थ पटेल को चुनाव लड़ाने का फैसला हुआ है। इस तरह कांग्रेस और उसकी सहयोगी एनसीपी ने एक परिवार से दो लोगों के चुनाव लड़ने का अघोषित नियम बनाया है। पर कई क्षेत्रीय पार्टियों के बड़े नेताओं के परिवार पर यह बात नहीं लागू होती है। वे तीन या उससे भी ज्यादा उम्मीदवार उतार रहे हैं।

जेडीएस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के परिवार से तीन लोग चुनाव लड़ सकते हैं। बताया जा रहा है कि देवगौड़ा खुद बेंगलुरू उत्तरी की सीट से चुनाव लड़ेंगे। उनके बेटे और राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल गौड़ा या निखिल कुमारस्वामी को मांड्या से चुनाव लड़ाया जाएगा और दूसरे बेटे एचडी रेवन्ना के बेटे प्रजवाल रेवन्ना को हासन सीट से चुनाव लड़ाया जा सकता है। ध्यान रहे उनके परिवार के तीन सदस्य – एचडी कुमारस्वामी, उनकी पत्नी अनिता कुमार स्वामी और एचडी रेवन्ना पहले से विधायक हैं। यानी कुल छह सदस्य सक्रिय राजनीति में हैं।

इसी तरह मुलायम सिंह के परिवार का किस्सा भी है। अभी परिवार के कुल छह लोग सांसद हैं। मुलायम सिंह खुद, उनकी बहू डिंपल यादव, भतीजा धर्मेंद्र यादव, दूसरा भतीजा अक्षय यादव और पोता तेज प्रताप यादव लोकसभा में सांसद हैं और भाई रामगोपाल यादव राज्यसभा में हैं। इस बार तेज प्रताप का चुनाव लड़ना तय नहीं है पर अखिलेश यादव जरूर लड़ेंगे। इस तरह कम से कम पांच सदस्य लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। पार्टी और परिवार से अलग हुए शिवपाल यादव भी चुनाव लड़ना चाहते हैं। अगर वे लड़े तो यह संख्या और बढ़ जाएगी।

183 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।