शनिवार फुरसत

हमेशा सराही गई नई कोशिश

‘शोले’ ने हिंदी फिल्मों का मिजाज और अंदाज बिगाड़ने में खासी भूमिका निभाई। नए विषय तलाशने की सिलसिला कम हो गया लेकिन उसके पहले के सालों में कई ऐसी और पढ़ें....

बदल रही फिल्मों की पहचान

अक्षय कुमार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने पर मचे निरर्थक बवाल को छोड़ दिया जाए तो इस बार के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों ने हिंदी और पढ़ें....

बदल रही फिल्मों की पहचान

अक्षय कुमार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने पर मचे निरर्थक बवाल को छोड़ दिया जाए तो इस बार के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों ने हिंदी और पढ़ें....

फिल्मी दुनिया पर फिल्म बनाना मुश्किल

पिछले साल फिल्मी दुनिया के काले-सफेद सच को उजागर करने वाली दो फिल्में लगभग साथ-साथ आईं। एक तो महेश भट्ट फैक्टरी की राज-3 और दूसरी मधुर भंडारकर की और पढ़ें....

फिल्मी दुनिया पर फिल्म बनाना मुश्किल

पिछले साल फिल्मी दुनिया के काले-सफेद सच को उजागर करने वाली दो फिल्में लगभग साथ-साथ आईं। एक तो महेश भट्ट फैक्टरी की राज-3 और दूसरी मधुर भंडारकर की और पढ़ें....

टूटती नहीं फिल्मी भेड़चाल

पिछले कुछ सालों में हिंदी फिल्मों में एक अलग तरह का बदलाव महसूस हुआ है। पारपंरिक तौर तरीकों को त्याग कर नए विषयों को नए नजरिए से परिभाषित करने की और पढ़ें....

टूटती नहीं फिल्मी भेड़चाल

पिछले कुछ सालों में हिंदी फिल्मों में एक अलग तरह का बदलाव महसूस हुआ है। पारपंरिक तौर तरीकों को त्याग कर नए विषयों को नए नजरिए से परिभाषित करने की और पढ़ें....

यह एकादशी दिव्य फल प्रदात्री

पौराणिक मान्यतानुसार वैष्णवों के लिए प्रत्येक महीने के कृष्ण व शुक्ल में पड़ने वाली एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस और पढ़ें....

बायोपिक फिल्में, गोरखधंधा अजब!

विशाल भारद्वाज की योजना तो चालीस के दशक की स्टंट क्वीन नाडिया पर फिल्म बनाने की थी। ‘रंगून’ में नाडिया, जूलिया हो गईं। उसका अंदाज नाडिया वाला ही रहा और और पढ़ें....

बायोपिक फिल्में, गोरखधंधा अजब!

विशाल भारद्वाज की योजना तो चालीस के दशक की स्टंट क्वीन नाडिया पर फिल्म बनाने की थी। ‘रंगून’ में नाडिया, जूलिया हो गईं। उसका अंदाज नाडिया वाला ही रहा और और पढ़ें....

123456789
(Displaying 71-80 of 84)