शनिवार फुरसत

कुलाचें भरता मेहनताना

पिछले कुछ सालों में सितारों की पौ बारह हो गई है। करोड़ों में उन्हें तोला जाने लगा है। कमाई के कई रास्ते उनके लिए खुल गए हैं। सिर्फ यह भरोसा जमने की देर है और पढ़ें....

करोड़ों उलीज रहे हैं कुछ फिल्मी सितारें

श्रीशचंद्र मिश्र बेहद चर्चित रही फिल्म ‘ठग्स आफ हिंदोस्तान’ के बाक्स आफिस पर औंधे मुंह लुढ़क जाने से सबसे बड़ा झटका और वह भी काफी जोर से आमिर खान को और पढ़ें....

हास्य फिल्मों का बदलता मिजाज

दिग्गज फिल्मकार भी मानते हैं कि हास्य फिल्म बनाना सबसे नाजुक और मुश्किल काम है। जरा सी सीमा पार होते ही फिल्म फूहड़ हो सकती है। फिल्मों के जरिए व्यंग्य और पढ़ें....

हास्य कलाकारों की बनी अलग पहचान

हिंदी फिल्मों में हास्य की हालांकि पूरी तरह कभी उपेक्षा नहीं हुई। फिल्म चाहे किसी भी विषय या पृष्ठभूमि की क्यों न रही हो, हास्य प्रसंग उसमें रखने की और पढ़ें....

फिल्मों में हंसी मजाक के बदले अंदाज

श्रीशचंद्र मिश्र फिल्मों का शुरू से ही खास फार्मूला हास्य रहा। यह पिछले कुछ सालों में दो तरह की धाराओं में बंट गया है। एक तरफ ‘ढिशुम’, ‘मस्ती’, और पढ़ें....

समय की कद्र नहीं करते फिल्मी सितारे

श्रीशचंद्र मिश्र फिल्म निर्माण भले ही कुछ हद तक व्यवस्थित व प्रोफेशनल हो गया है, ज्यादातर फिल्मी सितारों में लेट लतीफी की बीमारी अभी भी घर किए हुए है। और पढ़ें....

महिला उत्पीड़न से भरी पड़ी फिल्में!

श्रीशचंद्र मिश्र नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा कर अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने एक आंदोलन को जन्म दे दिया है। यह उसी कड़ी का एक विस्तार है जिसकी और पढ़ें....

फिल्म हिट तो वही खास दिन

दो साल पहले ‘बजरंगी भाई जान’ और फिर ‘सुल्तान’ को जबर्दस्त ईदी मिलने के बाद मान लिया गया था कि सलमान और ईद सफलता की गारंटी है। इस जुगलबंदी से मिली और पढ़ें....

स्टार अब फिल्म हिट की गांरटी नहीं!

श्रीशचंद्र मिश्र। इस सदी के अट्ठारह साल में यह पहला मौका है जब एक साल में तीनों खान की ख्याति बॉक्स आफिस पर धुंधला गई। इससे पहले हर साल किसी न किसी खान और पढ़ें....

रंगमंच ने निखारा बॉलीवुड को!

रंगमंच भले ही भारत में गहरी जड़ें न जमा पाया हो लेकिन उसका एक स्वर्णिम इतिहास रहा है। सबसे बड़ी बात तो यह कि रंगमंच ने फिल्मों को हमेशा एक से एक बढ़ कर और पढ़ें....

← Previous 123456789
(Displaying 1-10 of 84)