Loading... Please wait...

स्पाइन से जुड़ी बीमारियों में एमआईएस कारगर

नई दिल्ली। चिकित्सकों का कहना है कि देश में पिछले कुछ वर्षो से स्पाइन से जुड़ी बीमारियों में खासा इजाफा हुआ है और अगर नियमित एक्सरसाइज और दवा के सेवन से छह सप्ताह में आराम नहीं मिलता है तो मिनिमली इनवेसिव स्पाइन (एमआईएस) सर्जरी सबसे कारगर व सुरक्षित तकनीक है, जिससे मरीज को राहत मिल सकती है।

स्पाइन सॉल्यूशन्स इंडिया के निदेशक व स्पाइन सर्जन डॉ. सुदीप जैन ने कहा, "स्पाइन संबंधित रोगों में ज्यादातर मरीज कमर और गर्दन में असहनीय दर्द, नसों में खिंचाव और स्लिप डिस्क से ग्रस्त हो रहे हैं। इस शारीरिक समस्या से निजात नियमित एक्सरसाइज करके भी मिल सकती है। लेकिन, यह बात बेहद महत्वपूर्ण है कि आप इस पीड़ा का सामना कब से कर रहें हैं और परेशानी किस स्तर पर है।

नियमित एक्सरसाइज करने के बाद भी दर्द से निजात नहीं मिलने पर डॉक्टर आपको कुछ दवाएं लिख सकते हैं। उन्होंने कहा, "नियमित एक्सरसाइज और दवाइयों के सेवन से अगर छह सप्ताह में आराम नहीं मिलता है तो उसके बाद सर्जरी ही एकमात्र विकल्प बचती है। स्पाइन सर्जरी में सबसे कारगर और सुरक्षित तकनीक मिनिमली इनवेसिव स्पाइन (एमआईएस) सर्जरी है। इस सर्जरी कि सबसे बड़ी खासियत यह है कि स्पाइन सर्जरी के लिए सुबह पहुंचा रोगी शाम तक घर जा सकता है। डॉ. सुदीप जैन ने कहा, "इलाज का वह जमाना बीत चुका है, जब स्पाइन का ऑपरेशन बेहद जटिल होता था और उसकी सफलता की कोई गारंटी भी नहीं होती थी।

पीड़ित व्यक्ति को महीनों का बेड रेस्ट और आजीवन सावधानी बरतने की सलाह दी जाती थी। आज के दौर में महीनों का आराम और सावधानी बरतना तो दूर रहा, एमआईएस सर्जरी तकनीक से ऑपरेशन के बाद से रोगी ऑपरेशन के तुरंत बाद सामान्य जीवन में लौट सकते हैं। उन्होंने कहा कि सावधानी बरत कर स्पाइन से संबंधित बीमारियों को विकसित होने के जोखिम को कम किया जा सकता है। आप अधिक वजन उठाने से बचें, वजन को नियंत्रित रखें, कंप्यूटर पर सही पोस्चर में बैठ कर काम करें, लंबी अवधि में बैठने से बचे, मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए नियमित व्यायाम करें।

85 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech