हरिशंकर व्यास

हवा के बीच लडखड़ाई कांग्रेस!

छह महीने पहले, तीन उपचुनावों की बेकग्राउंड में राजस्थान में कांग्रेस की सघन आंधी थी। अजमेर, अलवर जैसे लोकसभा क्षेत्र के सभी (हां, सभी) विधानसभा क्षेत्रों और पढ़ें....

वसुंधराः खूब लड़ी मर्दानी...

भाजपा के कथित ग्यारह करोड़ सदस्यों में वसुंधरा राजे का मतलब बिरला है! वे ग्यारह करोड़ में अकेली नेता है  जो नरेंद्र मोदी, अमित शाह की दबिश में नही रही। और पढ़ें....

मप्रः प्रबंधन के चलते भारी मतदान?

मध्य प्रदेश ने चुनाव का सस्पेंस बढ़ाया है! भला क्यों इतना मतदान हुआ? प्रदेश में सर्वाधिक मतदान का रिकार्ड कैसे? क्या भाजपा ने लोगों के मूड को बूझ अपने और पढ़ें....

मतदान भारी, क्या मतलब?

मध्यप्रदेश में गजब है! इतना भारी मतदान! 2013 और 2014 की मोदी आंधी के वक्त से भी कोई सात-आठ प्रतिशत ज्यादा वोट का भला क्या मतलब? या तो शिवराजसिंह चौहान 150 सीटों से और पढ़ें....

मप्रः आज मतदान ऐतेहासिक!

देश का दिल (मध्यप्रदेश) आज धडकेगा। तभी मेरा मानना है कि शायद 2013-14 जैसा रिकार्ड मतदान हो। यदि ऐसा हुआ तो 11 दिशंबर तक दिलों की धुकधुकी का भगवान मालिक है। और जान और पढ़ें....

नई दिल्ली! दिन दहाड़े पुलिस लूट!

वह भी प्रधानमंत्री निवास से दो-तीन किलोमीटर दूर खान मार्केट के पास! दोपहर के दो बजे। 21 साल का एमबीए छात्र अपनी हमउम्र लड़की के साथ खान मार्केट में लंच करता और पढ़ें....

राम मंदिरः तब आस्था अब झांसा

तो नरेंद्र मोदी भी आज बोल पड़े कि कांग्रेस वाले अयोध्या में मंदिर पर राजनीति करते हैं। एक कांग्रेसी वकील ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि मंदिर मामले की और पढ़ें....

मप्रः दांव पर संघ मशीनरी

मध्यप्रदेश की प्रदेश कांग्रेस और कमलनाथ ने आरएसएस की मशीनरी को सक्रिय बनवाया है। संघ परिवार के तमाम संगठन भाजपा की जीत के लिए शिद्दत से एक्टीव है। यों और पढ़ें....

मोदी लाइअबिलिटी, शिवराज सहारा

हां, भाजपा यदि मध्यप्रदेश में जीती तो शिवराज के कारण जीतेगी और हारेगी तो अकेली वजह नरेंद्र मोदी होंगे। प्रदेश के शहरों में नरेंद्र मोदी के खिलाफ गुस्से और पढ़ें....

इधर शिवराज, उधर दिग्विजय

छतीसगढ़ के बाद मध्यप्रदेश में सात दिन बाद मतदान है। और प्रकटतः जैसे छतीसगढ़, राजस्थान में चुनावी माहौल समझ आ रहा है उसका प्रतिनिधी चुनावी दंगल और पढ़ें....

5678910111213
(Displaying 81-90 of 594)