हरिशंकर व्यास

अपने ‘महाराजजी’ नहीं रहे!

मतलब सेंट्रल हॉल के ठहाके! राजसी वैभव को सहजता और जिंदादिली से जीना! खबरों के लिए चौबीसों घंटे कौतुक में रहना और फिर उनके मायनों में सतत मगन रहना! मेरा और पढ़ें....

ईवीएम मशीन और 300 सीट

इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की खूबी कहें या नंबर एक गलती जो ये कीचड़ भी जहां नहीं होगा वहां पानी से लबालब भरा तालाब दिखलाते हैं। इसलिए अमित और पढ़ें....

ईवीएम पर संदेह, तो बचा क्या?

भारत के सवा सौ करोड़ लोग यदि प्राइवेसी, लोकतंत्र की संस्थाओं, करेंसी में लेन-देन के व्यवहार, सरकारी फैसलों पर संदेह रखते हुए जी रहे हैं तो सवाल है कि इस और पढ़ें....

मोदी राज: विश्वास ही खत्म!

हां, भारत के हम लोग आज संदेह में जी रहे हंै। सब पर संदेह है। परस्पर अविश्वास है। उस नाते नरेंद्र मोदी के राज का यह ऐसा अबूझा इतिहास है जिसमें लिखा होगा कि और पढ़ें....

फिल्मकारों से मोदी मार्केटिंग!

आमिर खान के साथ नरेंद्र मोदी की फोटो! एक्टर कार्तिक आर्यन, करण जौहर, दिनेश विजान और इम्तिऐयाज अली की मोदी के साथ सेल्फी या बैकफी। फिर कार्तिक आर्यन ने उसे और पढ़ें....

केजरीवाल ही मोदी को जिताएंगें!

अरविंद केजरीवाल का 2014 बनाम 2019 का क्या फर्क है? सोचें तो बहुत फर्क मिलेगा लेकिन नरेंद्र मोदी के मामले में वे जैसे तब थे वैसे ही अब हैं। तब भी वे नरेंद्र मोदी और पढ़ें....

जिंदा बनाम मुर्दा कौम का लोकतंत्र

वाह! क्या गजब है ब्रिटेन, अमेरिका का लोकतंत्र!  और यह प्रमाण है कि जिंदा कौम के लोकतंत्र में सब आजाद होते है। देश और देश की संस्थाएं अपने कर्तव्य, अपने और पढ़ें....

मायावती समझें, बनें बड़ी नेता!

मायावती वह गलती कर रही हैं, जो उनके सियासी जीवन को डूबोने वाली होगी। इसलिए कि उनके चलते भाजपा उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 25 सीटें जीत सकती है। भाजपा की इतनी और पढ़ें....

मोदी-शाह का तुरूप है कन्हैया!

वामपंथियों, सेकुलरों को सोचना, समझना चाहिए कि तीन साल बाद कन्हैया कुमार को देशद्रोही करार देने वाली चार्जशीट अदालत में दायर हुई तो भला क्यों? क्यों और पढ़ें....

मोदी की पालकी उठाएं ये हिंदू!

नियुक्तियां खराब और विजुअल शर्मनाक! हां, भाजपा की राष्ट्रीय परिषद् की बैठक में अमित शाह ने शिवराज सिंह चौहान को टला मार कर जैसे पीछे हटाया और मोदी को और पढ़ें....

123456789
(Displaying 41-50 of 594)