महाकालेश्वर मंदिर में सैकड़ों श्रद्धालुओं की भीड़

उज्जैन। मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि के दूसरे दिन वर्ष में केवल एक बार दोपहर में होने वाली भस्मार्ती में सैकडों श्रद्धालु शामिल हुए। इसके पूर्व भगवान के सेहरे के दर्शन किए गए। 

महाकालेश्वर मंदिर में परंपरानुसार प्रतिदिन तडके होने वाली भस्मार्ती होती है, लेकिन प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि पर्व के दूसरे दिन वर्ष में केवल एक बार दोपहर भस्मार्ती होती है, जिसमें सैकडों दर्शनार्थी शामिल हुए। इसके पूर्व भगवान महाकालेश्वर को आकर्षक क्विंटलों फूलों से सजाया गया था, जिसे सेहरे के दर्शन कहा जाता है। महाकालेश्वर देश का एकमात्र ऐसा मंदिर है, जहां महाशिवरात्रि पर्व शिव नवरात्रि के रुप में मनाया जाता है। 

महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि पर्व के मौके पर तडके भस्मार्ती के बाद आम दर्शनार्थियो के लिये दर्शन के लिये मंदिर के पट खोल दिये थे और बीती पूरी रात दर्शन का सिलसिला चलता रहा और रात्रि शयन आरती के बाद मंदिर के पट बंद कर दिये जाएंगे।

91 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।