'जो बोले सो निहाल' से गूंजा पटना

पटना। सिखों के दसवें गुरु गोबिंद सिंह की जन्मस्थली पटना में तख्त हरिमंदिर पटना साहिब से शुक्रवार को निकली प्रभात फेरी से 352वें प्रकाशोत्सव की शुरुआत हो गई है। अलसुबह पंच प्यारे की अगुआई में निकली इस प्रभात फेरी में 'जो बोले सो निहाल' के नारों से पूरा माहौल भक्तिमय हो गया। हाथी, घोड़ों व बैंडबाजों के साथ निकली इस प्रभातफेरी में हजारों सिख श्रद्घालु और संगतों ने हिस्सा लिया।पंच प्यारे दशमेश गुरु का गुणगाण करते हुए पटना सिटी के कई रास्तों से गुजरे।

प्रभात फेरी में 'जो बोले सो निहाल', 'सत श्री अकाल' 'वाहे-वाहे गुरु गोविंद सिंहजी', 'आपे गुरु चेला' आदि नारे गूंजते रहे।सुबह गुरुघर से निकली प्रभातफेरी नगर भ्रमण के बाद हरिमंदिर गली होते हुए तख्त श्री हरिमंदिर साहिब लौटी। यहां शुक्रवार सुबह तक मुंबई, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, कोलकाता, झारखंड से बड़ी संख्या में सिख श्रद्घालु यहां पहुंचे। इसके पहले भी देश के विभिन्न भागों से यहां श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। श्रद्घालुओं को तख्त श्री हरिमंदिर परिसर में बने कमरों के अलावा आसपास के विद्यालयों और टेंटसिटी के कमरों में भी ठहराया जा रहा है।प्रकाशोत्सव समारोह का 13 जनवरी को समापन होगा।

तख्त साहिब पहुंचे बाहरी संगत गुरु का बाग, कंगन घाट, सोनार टोली गुरुद्वारा, बड़ी संगत गायघाट, बाल लीला मैनी संगत गुरुद्वारा मत्था टेक रहे हैं। इसके साथ ही शुक्रवार को पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने पानी के जहाज का शुभारंभ किया जो आए श्रद्घालुओं को नौकाविहार कराएगी। 352वें प्रकाश पर्व पर श्रद्घालुओं की सुविधा के लिए जहाज सेवा शुरू की गई है।

यह सेवा 14 जनवरी तक जारी रहेगी। पानी का जहाज कंगन घाट से गाय घाट तक चलाया जाएगा।तख्त हरिमंदिर पटना साहिब प्रबंधक समिति के महेंद्र सिंह पाल ढिल्लन ने बताया कि प्रभातफेरी में काफी संख्या में देश-विदेश से आने वाले श्रद्घालुओं ने हिस्सा लिया। उन्होंने बताया कि 12 जनवरी को गायघाट से नगर कीर्तन निकाला जाएगा तथा गाय घाट स्थित बड़ा गुरुद्वारा में सुबह दीवान (सभा) सजेगा।

129 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।