Loading... Please wait...

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण में सबसे अधिक 46 प्रत्याशी रायपुर दक्षिण सीट पर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं अन्तिम चरण की 72 सीटों पर नाम वापसी के बाद शेष कुल 1101 उम्मीदवारों में से सबसे अधिक 46 प्रत्याशी रायपुर दक्षिण सीट पर चुनाव मैदान में है। दूसरे चरण में सबसे कम 06 प्रत्याशी गरियाबन्द जिले की बिन्द्रानवागढ़ सीट पर चुनाव मैदान में है।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू ने आज यहां बताया कि 72 सीटौ पर नाम वापसी के बाद कुल 1101 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गए है जिनमें सबसे अधिक 46 प्रत्याशी रायपुर दक्षिण सीट पर है। इसके बाद 37 प्रत्याशी रायपुर पश्चिम सीट पर तथा 33 प्रत्याशी बिलासपुर जिले की बिल्हा सीट पर है। उन्होंने बताया कि इन तीनो सीटो पर तीन–तीन ईवीएम मशीने लगानी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि इस चरण में 16 ऐसी सीटे है,जहां पर 16 से अधिक उम्मीदवार होने के कारण दो दो ईवीएम मशीने लगाई जायेगी। उन्होंने बताया कि भटगांव,अम्बिकापुर,रायगढ़,कोरबा,लोरमी, तखतपुर,बिलासपुर, चन्द्रपुर,खल्लारी, कसडोल,भाटापारा,रायपुर ग्रामीण,रायपुर उत्तर,धमतरी,दुर्ग शहर एवं कवर्धा सीटो पर दो दो ईवीएम मशीने लगेंगी।

उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में सबसे कम 06 प्रत्याशी गरियाबन्द जिले की बिन्द्रानवागढ़ सीट पर चुनाव मैदान में है जबकि इसके बाद 07 उम्मीदवार कोरबा जिले की रामपुर,इसी जिले की पाली तानाखार सीट पर 08 तथा भरतपुर सोनहत,धरमजयगढ़,संजारी बालोद,डौण्डीलोहारा,पाटन एवं दुर्ग ग्रामीण सीट पर नौ नौ उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे है। उन्होंने बताया कि राज्य में महिलाओं के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में पांच संगवारी मतदान केन्द्र बनाने की कोशिश की जा रही है,लेकिन जहां मतदाताओं की संख्या कम होगी और अन्य समस्याओं के चलते यह संभव नही होगा वहां कम केन्द्र भी बनाए जा सकते है। राज्य में संगवारी मतदान केन्द्र कितने होंगे इसका फैसला अभी नही हुआ है।

श्री साहू ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देशों पर राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ राज्य अनुग्रह प्रतिपूर्ति नियमों को निर्वाचन कर्तव्य के दौरान कर्मचारियों की मृत्यु अथवा घायल होने पर लागू किया है। यह प्रतिपूर्ति किसी अन्य नियम या अन्य योजना के तहत मिलने वाले प्रतिकर के भुगतान के अलावा होगी।

उन्होने बताया कि इस नियम के तहत अधिकारियों कर्मचारियों की मृत्यु की दशा में 10 लाख रूपए और नक्सली हिंसा या इसी प्रकृति की हिंसा में मृत्यु होने पर 20 लाख रूपए की प्रतिकर की राशि पीडित के परिजनों को भुगतान की जायेंगी।स्थाई अपंगता में छह लाख रूपए तथा नक्सल हिंसा में स्थाई अपंगता होने पर 10 रूपए का भुगतान किया जायेगा।अस्थायी अपंगता में एक लाख तथा नक्सल हिंसा में अस्थायी अपंगता पर दो लाख रूपए का भुगतान होगा।

श्री साहू ने बताया कि राज्य में चुनावों को शान्तिपूर्ण ढ़ग से सम्पन्न करवाने के लिए सुरक्षा बलो की 650 कम्पनियों की तैनाती की जा रही है। इसमें केन्द्रीय एवं राज्य सशस्त्र पुलिस बल भी शामिल है। उन्होने बताया कि सेना के हेलीकाप्टर एवं एयर एम्बुलेंस की भी तैनाती होंगी। इनके बारे में सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए उन्होने जानकारी देने से मना कर दिया।

148 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech