माह के अंत तक वजीफे का भुगतान होगा: जावडेकर

नई दिल्ली। देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में छात्रवृत्तियों के विलम्ब से भुगतान की शिकायतों के बाद सरकार ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् की सभी छात्रवृत्तियों का भुगतान कर दिया है और अब हर माह की 30 तारीख तक छात्रवृत्तियों का भुगतान कर दिया जायेगा।

यह घोषणा मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में की। श्री जावडेकर ने कहा कि छात्रवृत्तियों के भुगतान में कुछ शिकायतों को देखते हुए उनकी समीक्षा की गयी और सभी अड़चनों को दूर करके नवम्बर तक लंबित सभी छातवृत्तियों का भुगतान कर दिया गया है और अब हर माह की 30 तारीख तक वजीफे का भुगतान कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि पहले सभी तरह की छात्रवृत्तियों पर दो हज़ार करोड़ रुपए खर्च होते थे जिसे बढ़ाकर अब चार हज़ार करोड़ रुपये कर दिया गया है उन्होंने बताया कि कुल दो लाख 44 हज़ार छात्रों को ये छात्रवृत्तियां दी जाती हैं जिनमें एक लाख 28 हज़ार छात्रों को 10-10 हज़ार रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती है।

एम. टेक के 35 हज़ार छात्रों को प्रति माह 12500 रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती है। जी आर एफ़ के 35 हज़ार छात्रों को 25 से 25 हज़ार रुपये प्रति माह की छात्रवृत्ति मिलती है जबकि स्नातकोत्तर एकल सिंगल गर्ल छात्रवृत्ति के तहत 30 हज़ार लड़कियों को 37 हज़ार रुपए तक छात्रवृत्ति मिलती है। जम्मू-कश्मीर के छात्रों को लॉज में रहकर मुफ्त अध्ययन करने के लिए चार लाख रुपए तक हर साल छात्रवृत्ति मिलती है, इसी तरह ईशान उदय छात्रवृति के लिए 21 हज़ार छात्रों को प्रति वर्ष दो लाख 30 हज़ार रुपए की छात्रवृति दी जाती है।

गौरतलब है कि कई आयी आयी टी और भारतीय विज्ञान अनुसंधान संस्थान, बेंगलुरु के छात्रों ने छात्रवृत्तियों के विलम्ब से भुगतान के विरोध में रैलियां निकली और धरना-प्रदर्शन भी किया। उनका आरोप था कि गत छह माह से उन्हें छात्रवृत्तियों का भुगतान नहीं किया गया है।

162 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।