रोजगार मेले में 2259 युवाओं को दिए करार पत्र

सूरत। गुजरात में सूरत के सरथाणा में रोजगार मेले में राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार को 2259 युवाओं को करार पत्र दिए। श्री रूपाणी ने यहां रोजगार पत्र और अप्रेंटिसशिप करार कार्यक्रम तथा औद्योगिक भर्ती मेले के तहत 2259 युवाओं को करार पत्र देते हुए कहा कि रोजगार अवसर और जॉब प्लेसमेंट के जरिए राज्य सरकार ने राज्य के युवाओं के सामर्थ्य को नयी दिशा देकर विकास से जोड़ा है।

‘वाइब्रेंट समिट की निरंतर सफलता के चलते गुजरात निवेश का श्रेष्ठ ठिकाना बना है, ऐसे में उद्योगों और निवेश के अनुरूप कुशल युवा शक्ति का निर्माण कर इस सरकार ने अप्रेंटिसशिप योजना में युवाओं को प्रशिक्षित किया है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने श्रेष्ठ नियोक्ताओं का सम्मान किया। इसके अलावा वर्ल्ड स्किल इंडिया कंपीटिशन के अंतर्गत उत्कृष्ट योगदान देने वाले गुजरात के छह युवाओं को प्रोत्साहक इनाम प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि गुजरात ने स्थानीय स्तर पर देश भर में सबसे अधिक रोजगार युवाओं को दिया है। अन्य राज्यों के युवा भी रोजगार हासिल करने के लिए गुजरात आते हैं। इतना ही नहीं, पिछले एक वर्ष में एक लाख युवाओं को पारदर्शी और भ्रष्टाचार रहित पद्धति से सरकारी सेवा में जुड़ने का अवसर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत विश्व का सबसे युवा देश है जिसकी 55 फीसदी आबादी 18 से 40 वर्ष की उम्र की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात में युवाओं के कौशल संवर्धन के जरिए कई उपलब्धियां हासिल की हैं। आज केन्द्र सरकार की अप्रेंटिसशिप योजना में कुल साढ़े चार लाख युवाओं में 75 हजार युवा गुजरात के हैं।

उल्लेखनीय है कि दक्षिण गुजरात में वर्ष के दौरान 11 हजार से अधिक युवाओं को अप्रेंटिसशिप योजना के तहत करारबद्ध किया गया है। सूरत जिले में वर्ष के दौरान 40 भर्ती मेले आयोजित कर 27,900 से अधिक युवाओं का चयन किया गया है। राज्य सरकार के एक वर्ष के शासन की विकास गाथा को जनता के बीच रखते हुए उन्होंने बताया कि किसानों का हित, शिक्षा में आमूल परिवर्तन और भ्रष्टाचार उन्मूलन के लिए प्रभावी कदम उठाने के साथ ही सुशासन के माध्यम से गुजरात को वैश्विक विकास की दिशा में आगे बढ़ाया है। उन्होंने राज्य में नीतियों के सरल अमलीकरण तथा हाल ही में घोषित की गयी गारमेंट और टेक्सटाइल पॉलिसी द्वारा अधिकाधिक युवाओं को रोजगार एवं महिलाओं को रोजगार के साथ प्रोत्साहन देने की राज्य सरकार की योजनाओं पर रोशनी डाली।

लोकरक्षक भर्ती परीक्षा को रद्द करने के हालिया निर्णय का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मेहनतकश युवा छूट न जाएं और अपराधी को सख्त सजा मिले, इस दिशा में राज्य सरकार आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि मामले में एटीएस अंतरराज्यीय गिरोह की जड़ तक पहुंचकर गुनहगारों को पकड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। श्रम एवं रोजगार मंत्री दिलीप कुमार ठाकोर ने कहा कि रोजगार मुहैया कराने के मामले में गुजरात देश में आगे है। वर्ष 2018 में तीन लाख युवाओं को रोजगार देने के लक्ष्य के समक्ष 3.55 लाख युवाओं को रोजगार देने का ठोस कदम उठाया है। श्री ठाकोर ने कहा कि युवाओं का कौशल निर्माण सुनिश्चित करने के लिए 250 तहसीलों में 287 आईटीआई कार्यरत है। इसके अलावा, अंतरराष्ट्रीय स्तर की नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग (एनसीवीटी) योजना के अंतर्गत 50 हजार युवाओं को तालीम दी जा रही है।

93 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।