गपशप कॉलम

बिहार की तस्वीर सर्वाधिक धुंधली

इस साल के लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने सबसे पहले बिहार में काम शुरू किया था। जुलाई 2017 में ही भाजपा ने 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी कर ली थी। तभी नीतीश कुमार और पढ़ें....

झारखंड में गठबंधन की बेहतर संभावना

बिहार के मुकाबले झारखंड में महागठबंधन की संभावना बेहतर दिख रही है। कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, झारखंड विकास मोर्चा और राष्ट्रीय जनता दल का गठबंधन और पढ़ें....

आचार संहिता है गठबंधन की डेडलाइन

चुनाव की घोषणा होने तक पार्टियों के बीच गठबंधन को लेकर तनातनी चलती रहेगी। आचार संहिता लगने से पहले कोई भी पार्टी तालमेल को अंतिम रूप नहीं देना चाहती है। और पढ़ें....

अच्छे दिनों का इंतजार करना होगा!

केंद्र सरकार के अंतरिम बजट से शिक्षा और रोजगार का मामला लगभग पूरी तरह से गायब रहा। बजट से ठीक पहले बेरोजगारी को लेकर हल्ला मचा था। एनएसएसओ के आंकड़े के और पढ़ें....

राहुल के एजेंडे पर अंतरिम बजट!

जान ले कि केंद्र सरकार ने चुनावी साल का जो अंतरिम बजट पेश किया है उसका एजेंडा राहुल गांधी का तय किया हुआ है। कहा जा सकता है कि चुनावी साल है इसलिए कोई भी और पढ़ें....

फेंकू योजनाओं का कैसे पहुंचेगा लाभ?

वित्त मंत्री ने अंतरिम बजट में कई घोषणाएं की है?  सवाल है कि सरकार की घोषित योजनाओं का लाभ लोगों तक कैसे पहुंचेगा? सरकार जिन लोगों को लाभ देना चाहती है और पढ़ें....

फीलगुड या फेंकू बजट?

अंतरिम बजट 2019 को आम चुनाव से पहले का मोदी सरकार का अंतिम ब्रहास्त्र माना जाना चाहिए! प्रयागराज में धर्मसंसद के साथ बजट का संदेश कुल मिला कर भाजपा का और पढ़ें....

जेटली से बेहतर पीयूष बजट!

और इस बात को सभी मानेगें। हिसाब से पीयूष गोयल को अरूण जेटली के पांच बजट के नतीजों को इस अंतरिम बजट में बतलाना चाहिए था। अरूण जेटली ने पांच साल में जो किया और पढ़ें....

गणित विपक्ष की, शोर मोदी का!

और गायब है माहौल। यही अगले लोकसभा चुनाव का सत्व-तत्व है। जरा गौर करें शनिवार को ममता बनर्जी की रैली या सप्ताह में हुई बसपा-सपा एलायंस घोषणा पर। सोचंे, और पढ़ें....

साढ़े चार साल लकवा, अब समझ!

क्या‍ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले साल जुलाई में राकेश अस्थाना को नहीं हटा सकते थे? पिछले साल जून में प्रधानमंत्री दफ्तर के अफसरों ने राजेश्वरसिंह और पढ़ें....

123456789
(Displaying 31-40 of 621)