चीन से लीजिए सीख

संपादकीय-2
ALSO READ

ज्या‍दा वक्त नहीं गुजरा जब पर्यावरण की गुणवत्ता को लेकर चीन बदनाम था। बीजिंग की हवा इतनी प्रदूषित हो चुकी थी कि इस शहर से ओलिंपिक खेल छिन जाने का खतरा पैदा हो गया था। लेकिन उस तजुर्बे से चीन ने सबक लिया। तब से उसने जो प्रयास किए, वह अब दुनियाभर में चर्चित है। उन्हीं प्रयासों में एक वहां साइकिल का इस्तेमाल बढ़ाना है। कई दशकों तक चीन में बीजिंग शहर के योजनाकार उसे कारों के लिए सुविधाजनक बनाने में जुटे रहे। कारें बेरोकटोक हवा से बातें कर सकें और उन्हें खड़े होने, सुस्ताने और खुराक हासिल की जगह आसानी से मिल सके, इसकी व्यवस्थाएं की गईं। लेकिन नतीजा यह हुआ कि शहर की सड़कों पर धुएं और भीड़ ने लोगों का ही जीना मुहाल कर दिया। आज भी शहर में 60 लाख कारें हैं। लेकिन वहां कारों का इस्तेमाल घटाने की जो कोशिश हुई वह अब खासी चर्चित है। दो साल पहले आधुनिक तकनीक से लैस साइकिलों ने बीजिंग में दस्तक दी। इन साइकिलों को किराये पर लिया जा सकता है। मोबाइल ऐप की मदद से 30 सेंट यानी करीब आधे घंटे के लिए 40 रुपये दे कर इसे आप कहीं भी ले जा सकते हैं। फिर यात्रा करने के बाद वहीं छोड़ सकते हैं। ये रंग-बिरंगी साइकिलें अब शहर में हर तरफ नजर आने लगी हैं। ये काम 2016 में यह शुरू किया गया। 

दुनिया भर के 20 करोड़ से ज्यादा लोग इस कंपनी की साइकिल इस्तेमाल करते हैं। बीजिंग में ज्यादातर लोग साइकिल का इस्तेमाल छोटी दूरी के लिए करते हैं। जैसे घर से मेट्रो स्टेशन या फिर स्टेशन से अपने दफ्तर, स्कूल, कॉलेज, बाजार के लिए। हालांकि इन साइकिलों के आने के बाद अब लोग लंबी दूरी भी साइकिल से जाने लगे हैं। ये उन बाइक शेयरिंग कंपनियों का सकारात्मक असर है कि वहां सोच में बदलाव सामने आया है। बहुत से शहरों का प्रशासन अब सोच रहा है कि ऐसा क्या किया जाना चाहिए कि लोग साइकिल चलाना पसंद करें। लोगों को साइकिल तक लाने के लिए शहरों ने साइकिल लेन बनाई है। कुछ बाधाएं भी हैं, जैसे कि जब कार के लिए मुड़ने की लाइट होती है तो साइकिल के लिए सीधे जाने का सिग्नल होता है। इसके बावजूद सारा प्रयोग बेहतरीन ढंग से आगे बढ़ा है और अब इसके नतीजे भी मिल रहे है। 

88 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।