संपादकीय-2

भारत में एआई की दस्तक

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) को रोजगार के लिए खतरा माना जाता है। लेकिन ये नई तकनीक है, जिससे बचना किसी देश या समाज के लिए मुश्किल हो रहा है। अब इस तकनीक ने और पढ़ें....

नए कठघरे में फेसबुक

सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक पर अब ये इल्जाम लगा है कि उसने मशहूर तकनीक कंपनियों माइक्रोसॉफ्ट, अमेजन इत्यादि के साथ अपने यूजर्स की निजी जानकारियां साझा और पढ़ें....

पत्रकारिता में जारी जोखिम

पत्रकारिता का जोखिम कम होने का नाम नहीं ले रहा है। बल्कि पत्रकारों पर हमले बढ़ते जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी संस्था रिपोर्टर्स विदाउट और पढ़ें....

चीन का ये नया मॉडल

हाल में एक दिलचस्प रिपोर्ट आई है। इसके मुताबिक चीन के बिजनेस स्कूलों में ग्रैजुएशन कर रहे छात्रों के बीच अक्सर चर्चा होती है कि कैसे किसी कंपनी को अपने और पढ़ें....

फिर इंग्लैंड की दौड़!

यह खबर चिंताजनक है। और इससे यह भी जाहिर होता है कि किस कदर ब्रिटेन का आकर्षण अब भी भारत में बना हुआ है। और इसका संकेत भी कि अपने देश में मेडिकल कर्मियों के और पढ़ें....

अक्षय ऊर्जा का ही सहारा

पोलैंड के काटोवित्से में जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र के सम्मेलन से ज्यादा उम्मीदें नहीं थीं। जब अमेरिका इसमें शामिल ही नहीं है, तो वहां जो भी और पढ़ें....

यूरोप में परेशान यहूदी

यूरोपीय संघ के देशों में भी यहूदी खुद को सुरक्षित नहीं महसूस करते। वहां ज्यादातर यहूदी अपनी धार्मिक पहचान छुपा कर रहने को मजबूर हैं। एक ताजा सर्वे के और पढ़ें....

कांग्रेस-मुक्त उत्तर-पूर्व

तीन राज्यों में कांग्रेस जीत के शोर में ये तथ्य दब गया कि पूरा उत्तर-पूर्व फिलहाल कांग्रेस मुक्त हो गया है। इस साल की शुरुआत में कांग्रेस कोमेघालयकी और पढ़ें....

आखिर ये लापरवाही क्यों?

अगर पर्यावरण मंत्रालय 2015 में थर्मल पावर प्लांट के लिए जारी उत्सर्जन मानकों की अधिसूचना को लागू करता, तो देश में 76 हज़ार मौतों से बचा जा सकता था। ये निष्कर्ष और पढ़ें....

हिमालयी राज्यों पर खतरा

पोलैंड में जलवायु परिवर्तन पर चल रहे संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन से एक बेहद चिंताजनक तथ्य सामने आया है। इसके मुताबिक भारत के हिमालयी राज्यों में असम और और पढ़ें....

34567891011
(Displaying 61-70 of 576)