नए समीकरण के संकेत

संपादकीय-2
ALSO READ

जी-20 सम्मेलन के पहले ही दिन रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान गर्मजोशी से मिले। साथ ही यह भी सामने आया कि सऊदी अरब रूस में अपना निवेश बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। जाहिर है, ऐसी अटकलें लगाई गई हैं कि सऊदी अरब रूस से नज़दीकी बढ़ाना चाहता है। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय राजनीति में यह चर्चा शुरू होने लगी है कि जो सऊदी अरब अब तक अमेरिकी सहयोग की बदौलत पश्चिम एशिया में अपनी ताक़त का परचम लहरा रहा था, वो अगर रूस के साथ आ गया तो उसका क्या परिणाम होगा। पिछले दो  अक्टूबर को तुर्की की राजधानी इस्तांबुल के सऊदी दूतावास में पत्रकार जमाल ख़ाशोगी की हत्या के बाद से पूरी दुनिया सऊदी अरब की तरफ़ टेढ़ी निगाह से देख रही थी। अमेरिका में विरोध होने के बावजूद राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के साथ खड़े थे। राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान के ख़िलाफ़ अमेरिकी लड़ाई में सऊदी अरब को अहम सहयोगी मानने की बात की। इस रुख से अमरीकी सीनेटर भी ख़फ़ा हो गए।

लेकिन सऊदी अरब इस हत्या के बारे में प्रिंस सलमान को सब कुछ पता होने के आरोपों को ख़ारिज करता रहा है। ख़ाशोगी की हत्या के दो महीने बाद प्रिंस सलमान पहली बार जी-20 समिट के बड़े अंतरराष्ट्रीय मंच पर नज़र आए। वो रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन से इतनी गर्मजोशी के साथ मिलते हुए दिखे कि इस चर्चा को बल मिलने लगा कि सऊदी प्रिंस का झुकाव रूस की ओर हो रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि सऊदी अरब रूस में अपने निवेश को बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के प्रमुख जी-20 शिखर सम्मेलन के पहले दिन संवाददाताओं से कहा था कि सऊदी अरब के साथ सहयोग के संबंध में रूस की एक महत्वपूर्ण बैठक होगी। इसके बाद जब पुतिन और क्राउन प्रिंस सलमान की मुलाक़ात हुई। पुतिन ने ओपेक में सऊदी अरब के साथ सहयोग को बढ़ाने की बात की। पूरी दुनिया की तेल आपूर्ति पर अमेरिका, सऊदी अरब और रूस का दबदबा है, जो तेल उत्पादन में नंबर एक, दो और तीन की भूमिका में हैं। सऊदी अरब ने रूस में पहले से ही 2 अरब डॉलर से अधिक का निवेश कर रखा है। इसलिए उसका रूस के करीब आना असंभव नहीं है। लेकिन इससे पश्चिम एशिया में नए समीकरण बनेंगे, यह साफ है।  
 

125 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।