Loading... Please wait...

गंभीर हैं ये चेतावनियां

संपादकीय-2
ALSO READ

जलवायु परिवर्तन के कारण पैदा हो रहे खतरे पर फिर एक चेतावनी आई है। जलवायु परिवर्तन और मानवीय लापरवाही की वजह से होने वाले भूमि कटाव के कारण भारत के तटीय इलाकों की जमीन तेजी से समुद्र में समा रही है। पिछले 26 सालों में देश का एक तिहाई तटीय इलाका समुद्र में डूब गया है। केंद्रीय भू-विज्ञान मंत्रालय के तहत काम करने वाले नेशनल सेंटर फॉर कोस्टल रिसर्च (एनसीसीआर) के एक ताजा अध्ययन में कहा गया है कि 1990 से 2016 के बीच 26 वर्षों के दौरान 6,632 किमी लंबे तटीय इलाकों का एक तिहाई हिस्सा भूमि कटाव की वजह से गायब हो गया। देश में तटीय रेखा की लंबाई 7,517 किमी है। लेकिन उसमें से 6,031 किमी का ही सर्वेक्षण किया गया। पश्चिमी तट के मुकाबले पूर्वी तट पर यह समस्या ज्यादा गंभीर है। इस मामले में पश्चिम बंगाल का तटवर्ती इलाका सबसे संवेदनशील है।

सबसे ज्यादा भूमि कटाव यहीं हुआ है। सके बाद पुडुचेरी, केरल और तमिलनाडु का स्थान है। चेन्नई स्थित एनसीसीआर ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि तटीय इलाकों में भूमि कटाव आसपास रहने वाली आबादी के लिए बड़ा खतरा बन गया है। इस पर अंकुश की पहल नहीं की गई, तो और ज्यादा जमीन और आधारभूत ढांचा समुद्र में समा जाएगा। इस नुकसान की भरपाई मुश्किल है। इससे तटीय इलाकों में स्थित गांवों और शहरों में रहने वाली आबादी, इमारतों और होटलों को भारी नुकसान पहुंचेगा। तटीय इलाकों के पानी में समाने से खेती को भी काफी नुकसान होता है। दरअसल, तटीय इलाकों में मानवीय गतिविधियां तेज होने की वजह से भी भूमि कटाव की समस्या तेज हुई है। बंदरगाह इलाकों में बड़े पैमाने पर गाद या तलछट निकाल कर उसे गहरे समुद्र में फेंक दिया जाता है। लेकिन इनको तटीय इलाकों में फेंका जाना चाहिए।

वैज्ञानिकों का कहना है कि जलवायु परिवर्तन और समुद्र के बढ़ते जलस्तर ने जहां समस्या की गंभीरता बढ़ा दी है। वहीं नदियों के बेसिन पर बनने वाले बांधों की वजह से तटीय इलाकों तक गाद का प्रवाह कम हो गया है। वैसे हर राज्य में भूमि कटाव की वजहें अलग हैं। स्पष्टतः बहस करने की बजाय इस पर अंकुश लगाने के लिए ठोस एकीकृत उपाय जरूरी है। इसमें जितनी देरी होगी, नुकसान भी उतना ही बढ़ता जाएगा। लेकिन सरकारों और समाज को इसकी कहीं चिंता है, इसके कोई संकेत नहीं हैं। ऐसे में हम सभी समस्या को बढ़ाने में योगदान कर रहे हैं।

119 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech