संपादकीय-1

आखिर ये परदा क्यों?

काले धन का मुद्दा नरेंद्र मोदी सरकार की दुखती रग है। 2014 के आम चुनाव में मोदी ने इसे तत्कालीन यूपीए सरकार को पीटने का डंडा बनाया था। 2016 में इसी समस्या को हल और पढ़ें....

भाजपा का यह रिकॉर्ड!

विज्ञापन देने में कोई राजनीतिक दल कॉरपोरेट सेक्टर से आगे निकल जाए, कभी ऐसा सोचना भी कठिन था। लेकिन ऐसा करने का सेहरा भाजपा के माथे बंधा है। यह सवाल अहम है और पढ़ें....

एमएसपी तो मिला नहीं

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बीते चार जुलाई 2018 को 14 खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) निर्धारित किया था। दावा किया था कि पहले के मुकाबले और पढ़ें....

वंशवाद से सब पीड़ित

भारतीय जनता पार्टी के नेता वंशवाद के खिलाफ खूब बोलते हैं। लेकिन अपनी पार्टी के भीतर उनका व्यवहार उलटा है। ये बात पहले भी थी, लेकिन वंशवाद की बुराई पार्टी और पढ़ें....

सीबीआई में अथाह गंदगी?

देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर थीं। एक दिन पहले सीबीआई के डीआईजी एमके सिन्हा ने विस्फोटक याचिका दायर की थी। इसको लेकर काफी जिज्ञासा थी कि सुप्रीम कोर्ट और पढ़ें....

उम्र घटा रहा है प्रदूषण

चेतावनी दिल्ली के लिए है, लेकिन इसका संदर्भ राष्ट्रीय है। यानी इस समस्या से सिर्फ दिल्ली ही नहीं, बल्कि सारा देश ग्रस्त है। ताजा खबर चिंता बढ़ाने वाली और पढ़ें....

सीबीआईः संकट का अंत नहीं

सीबीआई में अनिश्चितता का अंत होने के संकेत फिलहाल नहीं मिल रहे हैं। अब इस जंग में केंद्रीय सतर्कता आयुक्त केवी चौधरी भी शामिल हो गए हैं। बीते 23 अक्टूबर और पढ़ें....

हरियाणा में बदलते समीकरण

हरियाणा के चार बार मुख्यमंत्री रहे और इस समय जेल में बंद ओम प्रकाश चौटाला के बेटों और पोतों के बीच राजनीतिक जंग चरम पर पहुंच गई है। ओमप्रकाश चौटाला के और पढ़ें....

दांव पर आरबीआई की साख

अब सबकी निगाहें भारतीय रिजर्व बैंक की गवर्निंग बॉडी की 19 नवंबर को होने वाली बैठक पर है। रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने संकेत दिया है कि सारे लंबित और पढ़ें....

कंपनियों के लिए बीमा योजना?

क्या‍ प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना दरअसल बीमा कंपनियों के फायदे की योजना बन गई है? ये सवाल पहले भी उठा था। अब फिर सामने आई जानकारियां इसी तरफ इशारा कर रही और पढ़ें....

5678910111213
(Displaying 81-90 of 588)