मोदी के ‘बेदाग और अपराजेय रिकार्ड’ के साथ कार्यकर्ता जनता के बीच जाएं: शाह

नई दिल्ली। कांग्रेस शासन में हर रक्षा सौदे में दलाली का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि जमानत पर बाहर और आयकर के बकायेदार राहुल गांधी पर बिना सबूत के आधारहीन आरोप लगा हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘‘ बेदाग नेतृत्व और अपराजेय रिकार्ड’’ के साथ भाजपा कार्यकर्ता सिर ऊंचा करके जनता के बीच जाएं।

रामलीला मैदान में भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि कुछ महीने से देखा जा रहा है कि विपक्ष आरोप लगा रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बेदाग सरकार चली। अब उन्हें (कांग्रेस को) लगता है कि पांच साल पूरे होने को हैं और एक भी आरोप नहीं 'ऐसे में आधारहीन आरोप लगा रहे हैं।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कांग्रेस शासनकाल में हर रक्षा सौदे में दलाली हुई, अब मिशेल मामा पकड़े गए हैं तो वो पसीना-पसीना हो रहे हैं। राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘कुछ समय से जो स्वयं जमानत पर हैं, जिन पर इनकम टैक्स का 600 करोड़ रुपए बकाया हो, ऐसे लोग प्रधानमंत्री मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं।’’

शाह ने कहा कि ऐसे लोगों को समझाना चाहिए कि जनता की सूझबूझ बहुत ज्यादा है। मोदी का प्रामाणिक जीवन और निष्कलंक चरित्र जनता के सामने है । पांच साल तक मोदी ने भ्रष्टाचार पर नकेल डालने का काम किया है। उन्होंने कहा कि यह भाजपा की सरकार है, हमारी सरकार में किसी की भागीदारी नहीं है। चौकीदार सभी चोरों को पकड़ेगा। बस समय की बात है।

राफेल सौदा मामले के संदर्भ में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी बिना सबूत के आरोप लगा रहे हैं, जनता उनके कोरे आरोपों को नहीं मानती । उन्होंने राहुल और सोनिया गांधी के संदर्भ में कहा कि "मां-बेटे दोनों जमानत पर बाहर हैं"। उन्होंने कहा कि इन आरोपों का वित्त मंत्री अरूण जेटली और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में जवाब दे चुकी है, एक एक विषय स्पष्ट हो गया है। उच्चतम न्यायालय ने फैसला सुना दिया है और कहा कि राफेल मामले में कुछ गलत नहीं है।

शाह ने कहा कि ऐसे में वे (राहुल) चार पीढियों के भ्रष्टाचार का हिसाब करें।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 1974 से 2018 तक जनता के बीच नरेन्द्र मोदी निष्कलंक चरित्र जनता के सामने है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि ‘‘ एक अजेय योद्धा आपका नेतृत्व कर रहा है। 1987 के बाद से नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एक भी परायज नहीं हुई। ऐसे में सीना तानकर जनता के बीच जाएं क्योंकि नरेन्द्र मोदी ने कोई ऐसा काम नहीं किया जिससे उनका सिर नीचा हो।’’

भाजपा की राष्ट्रीय परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘‘2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है। दो विचारधाराएं आमने सामने खड़ी हैं। 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है।’’

बैंक कर्ज के चूककर्ताओं के देश से फरार होने के बारे में विपक्ष के आरोपों के संदर्भ में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या इन सबको कर्ज कांग्रेस के शासन में दिए गए, लेकिन तब उनको भागने की जरूरत नहीं हुई। लेकिन जब चौकीदार सत्ता में आया तो इन्हें डर पैदा हुआ और वो बाहर भागे। इन सब चोरों को चौकीदार ही पकड़ कर लाएगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि असम मे सर्वानंद सोनोवाल की सरकार बनी और सरकार बनते ही एनआरसी की शुरुआत की गई। राष्ट्रीय नागरिक पंजी. (एनआरसी) देश में घुसपैठियों को चिन्हित करने की व्यवस्था है। अकेले असम मे 40 लाख प्रथम दृष्टया घुसपैठिये चिन्हित किये गये।

शाह ने कहा कि जब अखबार में आंकड़ा आया, वे राज्य सभा में पहुंचे, तब वहां देखा कि राहुल गांधी एवं उनके सहयोगियों ने हाय तौबा मचायी थी कि ये 'कहां जायेंगे, कहां रहेंगे, क्या खायेंगे'।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा चाहती है जल्द से जल्द उसी स्थान पर भव्य राम मंदिर का निर्माण हो और इसमें कोई दुविधा नहीं हैं। हम प्रयास कर रहे है कि सुप्रीम कोर्ट में चल रहे केस की जल्द से जल्द सुनवाई हो लेकिन कांग्रेस इसमें भी रोड़े अटकाने का काम कर रही है।

राष्ट्रीय परिषद की महत्वपूर्ण बैठक में पार्टी ने सामान्य श्रेणी के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण को संसद की मंजूरी और छोटे कारोबारियों एवं मध्यम उद्योगों को जीएसटी छूट के फैसले के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद दिया। बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता मदन लाल खुराना, अनंत कुमार समेत कई अन्य लोगों के निधन पर शोक प्रकट किया गया।

89 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।