Loading... Please wait...

एनसीएलटी ने सीएफएम एआरसी से दो करोड़ की पेशगी स्वीकार की

मुंबई। राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने बृहस्पतिवार को सीएफएम एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी से संकटग्रस्त रीड एंड टेलर के लिए दो करोड़ रुपये का डिमांड ड्राफ्ट पेशगी राशि जमा (ईएमडी) के रूप में स्वीकार कर लिया। एनसीएलटी ने सीएफएम को निपटान योजना सौंपने के लिए दो सप्ताह का समय दिया है।

भास्कर पंटूला और वी नल्लासेनापति की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि सीएफएम एआरसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एस वी शाह शेष तीन करोड़ रुपये की ईएमडी दो सप्ताह में निपटान योजना सौंपते समय जमा करा सकते हैं। पीठ ने कहा कि शाह ने जांच परख का काम पूरा करने के लिए चार सप्ताह का समय मांगा है पीठ ने कहा कि यदि निपटान योजना की प्रगति रिपोर्ट संतोषजनक होती है तो वह एक सप्ताह का समय और देने पर विचार करेगी। सीएफएम एआरसी को एकमात्र बोली लगाने वाला माना जाएगा।

पीठ ने कहा कि यदि सीएफएम एआरसी चाहती है कि एसपी ग्रोथ पार्टनर्स (एसपीजीपी) भी गठजोड़ में हो तो यह शुद्ध रूप से रीड एंड टेलर कर्मचारी कल्याण संघ के कर्मचारियों के साथ शुद्ध रूप से आंतरिक व्यवस्था होगी। इससे पहले 15 जनवरी को एसपीजीपी ने पेशगी राशि जमा कराने में असमर्थता जताते हुए आरटीआईएल में सह आवेदक के रूप में निवेश करने के लिए नए निवेशक सीएफएम एआरसी को आगे किया। एसपीजीपी दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही परिधान कंपनी ब्रांड रीड एंड टेलर में निवेशक है। सीएफएम एआरसी का नेटवर्थ 100 करोड़ रुपये है और उसके प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां 1,200 करोड़ रुपये है। वह हांगकांग की निवेशक एसपीजीपी के लिए सह आवेदक के रूप में आरटीआईएल के कर्मचारी कल्याण संघ के साथ आगे आई। पीठ ने एसपीजीपी की बोली को खारिज करते हुए सीएफएम एआरसी को इस बारे में अलग से आवेदन दाखिल करने को कहा। कासलीवाल परिवार संचालित एस कुमार ग्रुप की कंपनी आरटीआईएल पर ऋणदाताओं का 4,100 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है। ऋणदाताओं की समिति में फिनक्वेस्ट फाइनेंशियल साल्यूशन शामिल है जिसे 800 करोड़ रुपये की वसूली करनी है। समिति में यूनियन बैंक आफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, आईएलएंडएफएस फाइनेंशियल सर्विसेज, आईडीबीआई बैंक और एलएंडटी फाइनेंस आदि शामिल हैं।

52 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech