देशद्रोह मामले में गोहेन, गोगोई, महंत को जमानत

गुवाहाटी। गौहाटी उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को देशद्रोह के एक मामले में असम के साहित्यकार हीरेन गोहेन और केएमएसएस नेता अखिल गोगोई को अंतरिम जमानत जबकि वरिष्ठ पत्रकार मंजीत महंत को नियमित जमानत दी। यह मामला नागरिकता विधेयक के खिलाफ कथित टिप्पणियों को लेकर असम पुलिस ने दर्ज किया है।
न्यायमूर्ति एच के शर्मा ने गोहेन और गोगोई को पांच-पांच हजार रुपये के मुचलके पर अंतरिम जमानत मंजूर की। उन्होंने पुलिस को 22 जनवरी तक केस डायरी सौंपने का निर्देश दिया।

पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए यहां लतासिल थाने में धारा 121 (सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ना, छेड़ने का प्रयास करना या छेड़ने के लिए उकसाना), 123 (युद्ध छेड़ने की साजिश में मदद करने के लिए इसे छिपाना) और 124 (ए) (देशद्रोह) सहित भादंसं के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया था। मामला नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए सात जनवरी को आयोजित बैठक में इन तीनों द्वारा की गई टिप्पणियों के आधार पर दर्ज किया गया।

लोकसभा में आठ जनवरी को पारित विधेयक में बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में धर्म के आधार पर प्रताड़ित किये जाने से वहां से भागकर 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत में आने वाले गैरमुस्लिमों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान शामिल है।

49 Views

बताएं अपनी राय!

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।