सुशांत कुमार All Article

चुनाव में किसका, किससे मुकाबला?

लोकसभा चुनाव में किस पार्टी का किसके साथ मुकाबला है? पार्टियों के बीच मुकाबला है या देश भर में एक गठबंधन का दूसरे गठबंधन से मुकाबला होगा? और पढ़ें....

आतंकियों की संख्या पर यू टर्न क्यों?

भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार ने 26 फरवरी को बालाकोट में हुई वायु सेना की कार्रवाई में मारे गए आतंकवादियों की संख्या पर यू टर्न ले लिया है। अब पार्टी के नेता संख्या नहीं बता रहे हैं। और पढ़ें....

विपक्ष जोखिम लेने को तैयार

विपक्षी पार्टियों ने हिम्मत का काम किया। देश विरोधी कहे जाने की जोखिम लेकर विपक्षी पार्टियों ने बालाकोट में सेना की कार्रवाई को लेकर कुछ सवाल पूछे हैं। और पढ़ें....

सेना ने की जरूरी कार्रवाई

भारतीय वायु सेना के विमानों ने नियंत्रण रेखा पार करके पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में बने आतंकवादी शिविरों पर बम गिराए और जैश ए मोहम्मद के कंट्रोल रूम सहित कई आतंकवादी समूहों के शिविर उड़ा दिए। और पढ़ें....

भाजपा के दूसरे सहयोगी भी लौटेंगे

भारतीय जनता पार्टी का अपनी सबसे पुरानी सहयोगी पार्टी शिव सेना के साथ तालमेल हो गया है। शिव सेना ने साढ़े चार साल तक केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार में शामिल रहने के बावजूद लगातार उसके ऊपर हमला किया। और पढ़ें....

चिटफंड की जांच या राजनीतिक दांवपेंच?

पश्चिम बंगाल और ओड़िसा की चिटफंड कंपनियों की जांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हो रही है। आधा दर्जन से ज्यादा चिटफंड कंपनियों के ऊपर आरोप है कि उन्होंने लाखों गरीब और मध्यमवर्गीय लोगों को हजारों करोड़ रुपए का चूना लगाया। और पढ़ें....

अयोध्या का और उलझा मामला

अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद की जमीन के मालिकाना हक का विवाद उलझता जा रहा है। कहां तो लग रहा था कि जल्दी ही मामला सुलझ जाएगा और सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होकर विवाद का समाधान निकल जाएगा और पढ़ें....

ईवीएम पर उठे सवालों का क्या जवाब?

जैसे जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं चुनाव प्रक्रिया से जुड़ी कई चीजों को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। सबसे बड़ा सवाल इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन, ईवीएम को लेकर है और पढ़ें....

सारे काम चुनाव से पहले क्यों?

केंद्र सरकार से लेकर राज्यों तक में सरकारों में होड़ मची है। सब आम लोगों के लिए कुछ न कुछ कर रहे हैं। सरकारों का खजाना खुला है। खुले हाथ से पैसे लुटाए जा रहे हैं। समाज के हर तबके को खुश करने वाले नीतिगत फैसले हो रहे हैं, और पढ़ें....

कानून के सहारे चुनावी राजनीति

लोकसभा चुनाव का समय नजदीक आ गया है और केंद्र सरकार कानून बनाने में जुटी है। उसने गरीब सवर्णों को दस फीसदी आरक्षण देने का कानून बनाने की पहल की है। और पढ़ें....

← Previous 123456789
(Displaying 1-10 of 93)
सुशांत कुमार

सुशांत कुमार

editor5@nayaindia.com