Loading... Please wait...

शंकर शरण All Article

भाजपा की राजनीतिक विफलता

दलीय सफलता और सामाजिक-राजनीतिक सफलता में मौलिक अंतर है। इसे बड़े-बड़े भाजपा नेताओं की तुलना सैयद शहाबुद्दीन, मोहित सेन जैसे मामूली नेताओं से करके समझ सकते हैं।  और पढ़ें....

‘दल से बड़ा देश’ - सचमुच?

एक बार अटल बिहारी वाजपेई ने कहा था कि सत्ता में बने रहने की कला मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से सीखनी चाहिए। वरिष्ठतम राष्ट्रीय नेता होने से वे बखूबी जानते थे कि माकपा ने बंगाल की सत्ता कैसे बनाए रखी थी। और पढ़ें....

क्या भाजपा नेता असाधारण रहे हैं?

भाजपा द्वारा सरकारी धन से राजकीय संस्थानों, भवनों, सड़कों, स्टेडियम, योजनाओं, आदि पर अपने नेताओं के नाम थोपने की आलोचना से कुछ पाठक असहमत हैं। अतः यह कैफियत।  और पढ़ें....

कन्नड़ को किस से चोट पहुँची?

हाल में कर्नाटक में कुछ कन्नड़-प्रमियों ने हिन्दी में लिखे नाम मिटाकर अपना क्रोध दिखाया। यह ऐसा ही है, जैसे किसी को दफ्तर में अफसर से नाहक डाँट पड़े तो वह घर आकर अपने बच्चे की पिटाई कर दे। और पढ़ें....

आजाद भारत में गड़बड़ी कहां हुई?

भारतीय संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने 26 नवंबर 1949 को संविधान स्वीकार करने के अवसर पर दो पछतावे व्यक्त किए थे। कि सभा को दो कार्य करने चाहिए थे जो नहीं हो सके। और पढ़ें....

इस्लाम का नैतिक संकट

तीन तलाक, हलाला, मुताह, आदि दुर्दशा, वेदना और यातना झेलने वाली मुस्लिम लड़कियाँ, स्त्रियाँ आखिर किसी मुस्लिम की पत्नी, बहन, बेटियाँ भी हैं। तब क्या कारण है कि मुस्लिम समुदाय इन का जीवन सम्मानजनक बनाने के लिए कुछ नहीं करता? यह सोचने का विषय है। और पढ़ें....

इस्लामी राजनीति की समस्या

हिन्दू लोग सारी दुनिया में विभिन्न समुदायों के साथ रहते हैं। कहीं उन का किसी और से झगड़ा नहीं। दूसरी ओर, मुसलमानों का सारी दुनिया में हर कहीं, हर समुदाय के साथ झगड़ा है। और पढ़ें....

नेतृत्व-हीन हिन्दू की विडंबना

सोशल मीडिया पर हिन्दूवादी एक्टिविस्टों की भाषा-शैली, विचार कभी-कभी क्लेश देते हैं। उन में ऐसे एक्टिविस्ट भी हैं जो अनेक प्रोफेसरों से अधिक जानते और सही टिप्पणी करते हैं। और पढ़ें....

भाजपा का यह गाँधीवाद, पार्टीवाद

मुगलसराय को एक भाजपा नेता के नाम पर बदलना पार्टी के सामने देश को उपेक्षित करने जैसा है। अन्यथा जो क्षेत्र तुलसी, कबीर से लेकर भारतेंदु, महामना मालवीय, जयशंकर प्रसाद, रायकृष्ण दास, प्रेमचंद, उदय शंकर, बिस्मिल्ला खान जैसे और पढ़ें....

एक कसौटी तसलीमा नसरीन

सुप्रसिद्ध लेखिका तसलीमा नसरीन को अभी औरंगाबाद से जबरन लौटाया गया। यह दस साल पहले हैदराबाद और जयपुर की ही पुनरावृत्ति है। इस्लामी कट्टरपंथियों की हिंसा या विरोध के कारण उन्हें किसी कार्यक्रम में भाग न लेने देना। और पढ़ें....

123456789
(Displaying 51-60 of 81)
शंकर शरण

शंकर शरण

bauraha@gmail.com

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech