Loading... Please wait...

संपादकीय-2 All Article

आखिर ये लापरवाही क्यों?

अगर पर्यावरण मंत्रालय 2015 में थर्मल पावर प्लांट के लिए जारी उत्सर्जन मानकों की अधिसूचना को लागू करता, तो देश में 76 हज़ार मौतों से बचा जा सकता था। और पढ़ें....

हिमालयी राज्यों पर खतरा

पोलैंड में जलवायु परिवर्तन पर चल रहे संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन से एक बेहद चिंताजनक तथ्य सामने आया है। इसके मुताबिक भारत के हिमालयी राज्यों में असम और मिजोरम जलवायु परिवर्तन के प्रति सबसे ज्यादा संवेदनशील हैं। और पढ़ें....

अब 'मिनी मैर्केल' का दौर!

पिछले हफ्ते जर्मनी में आनेग्रेट क्रांप-कारेनबावर को सत्ताधारी सीडीयू पार्टी का अध्यक्ष चुन लिया गया। वे पार्टी अध्यक्ष के रूप में जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल का स्थान लेंगी। और पढ़ें....

कांग्रेस का रत-जगा

मध्य प्रदेश में मतदान खत्म होने के बाद से कांग्रेस ने हर छोटे-बड़े मामले को लेकर चुनाव आयोग का दरवाज़ा खटखटाया है। प्रदेश में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के पास तो कांग्रेस की शिकायतों/ज्ञापनों का जैसे अंबार ही लग गया। और पढ़ें....

एसी, जलवायु परिवर्तन,चर्चाएं

पोलैंड के शहर काटोविस में संयुक्त राष्ट्र का 24वां जलवायु परिवर्तन सम्मेलन शुरू हो चुका है। जाहिर है, एक बार फिर चर्चा कार्बन उत्सर्जन रोकने के उपायों को लागू पर है। और पढ़ें....

ऐसे दोगुनी होगी आमदनी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वादा है कि वे किसानों की आमदनी दोगुनी कर देंगे। लेकिन जमीन पर जो हो रहा है, उससे तो ऐसी कोई आस नहीं बंधती। बल्कि लगातार किसानों की हालत बिगड़ने के संकेत मिल रहे हैं। और पढ़ें....

नए समीकरण के संकेत

जी-20 सम्मेलन के पहले ही दिन रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान गर्मजोशी से मिले। साथ ही यह भी सामने आया कि सऊदी अरब रूस में अपना निवेश बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। और पढ़ें....

अमेरिका का अंतर्विरोधी रुख

जी-20 शिखर बैठक के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की बातचीत चीन के नजरिए से सार्थक रही। ट्रंप ने अगले एक जनवरी से लागू होने वाले व्यापारिक करों पर अमल ना करने का एलान किया। और पढ़ें....

लोगों की जान से खिलवाड़

मेडिकल उपकरणों के बारे में हुए खुलासे से दुनिया चिंतित है। सामने यह आया है कि चिकित्सा उपकरणों की घटिया क्वालिटी और मनमानी कीमत के चलते हर साल मरीजों की जेब से अरबों डालर बहुराष्ट्रीय कंपनियों की जेब में जा रहे हैं। और पढ़ें....

2345678910
(Displaying 51-60 of 564)
संपादकीय-2

संपादकीय-2

editorial@nayaindia.com

नया इंडिया के संपादकीय पेज पर सोमवार से शुक्रवार को प्रकाशित होने वाले संपादकीय इस मेनू में मिलेगें। घटना विशेष पर तुरंत टिप्पणी में नया इंडिया अंग्रणी अखबार हैं। हिंदी के अन्य अखबारों के मुकाबले विविध विषयों पर बेबाक-निष्पक्ष राय नया इंडिया के संपादकीय में पढने को मिलेगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech