Loading... Please wait...

संपादकीय-2 All Article

जाति का जेल से रिश्ता

कहा जाता है कि भारत में जैसे एक गरीबी रेखा है, वैसे ही एक जेल रेखा भी है। जेल जाने वाले लोगों की संख्या का विश्लेषण करें तो पता चलता है कि वहां एक खास सामाजिक-आर्थिक तबके के लोगों ज्यादा मौजूद रहते हैं। और पढ़ें....

सही समय पर चेतावनी

क्या‍ इनसान के भोजन धरती के लिए खतरा पैदा हो गया है? ब्रिटिश मेडिकल जर्नल लैंसेट में छपे एक शोध का यही निष्कर्ष है। उसके मुताबिक इनसान जिस तरह से खाना पैदा करता है, उससे धरती के लिए विनाशकारी संकट पैदा कर दिया है। और पढ़ें....

चुंबकीय ध्रुव में बदलाव

ये ऐसी शोध है जिसका मानव समझ पर दूरगामी असर हो सकता है। धरती पर अनेक प्रक्रियाएं कैसे काम करती हैं, इसे समझने के लिए यह अहम है। इसके मुताबिक पृथ्वी के भौगोलिक ध्रुवों और चुंबकीय ध्रुवों में अंतर हैं। और पढ़ें....

अब अधर में ब्रेक्जिट

ब्रिटिश संसद में ब्रेक्जिट समझौते पर मतदान होने के बाद प्रधानमंत्री थेरेसा मे को करारा झटका लगा है। ब्रेक्जिट समझौते के पक्ष में 202 वोट और विरोध में 432 वोट पड़ेहैं। अब थेरेमा मे की गद्दी पर भी खतरा मंडरा रहा है। और पढ़ें....

भारतीय फुटबॉल में उम्मीदें

एशिया कप फुटब़ॉल में बहरीन से हारने के साथ ही भारत टूर्नामेंट से बाहर हो गया। उसके बाद भारतीय टीम के कोच स्टीफन कॉन्सटेंटाइन ने अपना पद छोड़ने का एलान किया। और पढ़ें....

समस्या इस मॉडल में है

अमेरिका के केंद्रीय संघीय बैंक यानी फेडरल रिजर्व ने पिछले साल जून  में एक शोध किया। उसके मुताबिक अमेरिका में पढ़ने वाले छात्रों में से 42 फीसदी कर्ज के नीचे दबे हुए हैं। और पढ़ें....

खतरे में खुशहाली के स्रोत

रोजगार के लिए खाड़ी देशों का रुख करने वाले भारतीयों की संख्या में तेजी से गिरावट आ रही है। 2017 की तुलना में 30 नवंबर 2018 तक के 11 महीनों में खाड़ी जाने के लिए इमीग्रेशन क्लियरेंस में 21 फीसदी की कमी आई है। और पढ़ें....

बेजोस का महंगा प्यार

कंपनी के मालिक ने जो किया, उसका परिणाम कंपनी को भुगतना होगा। ऐसा पहले भी हुआ है, लेकिन इस बार मामला दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक अमेजन का है। और पढ़ें....

वैज्ञानिक चेतना की अनदेखी

पंजाब के जालंधर में हुई विज्ञान कांग्रेस में शामिल कुछ पर्चे अतीत के ऐसे निरर्थक, अहंकारी और अवैज्ञानिक गुणगान से भरे थे। ऐसी बातों से जिनका कोई ऐतिहासिक और वैज्ञानिक साक्ष्य नहीं है। और पढ़ें....

नाराज होते मजदूर-किसान

नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ देशभर के मजदूर-किसान एकजुट हो रहे हैं। ऐसा संकेत पिछले डेढ़ साल के दौरान कई बार मिला है। उनकी एकता की  ताजा मिसाल 8 से 9 जनवरी को दो दिन की देशव्यापी हड़ताल है। और पढ़ें....

123456789
(Displaying 21-30 of 562)
संपादकीय-2

संपादकीय-2

editorial@nayaindia.com

नया इंडिया के संपादकीय पेज पर सोमवार से शुक्रवार को प्रकाशित होने वाले संपादकीय इस मेनू में मिलेगें। घटना विशेष पर तुरंत टिप्पणी में नया इंडिया अंग्रणी अखबार हैं। हिंदी के अन्य अखबारों के मुकाबले विविध विषयों पर बेबाक-निष्पक्ष राय नया इंडिया के संपादकीय में पढने को मिलेगी।

© 2019 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech